Doon Prime News
entertainment

Superstar Singer 2: मोहम्मद फैज ने जीती विनर के ट्रॉफी, 15 लाख रुपए का मिला नकद पुरस्कार।

म्यूजिक रियलिटी शो Superstar singer 2’ का यहां शनिवार रात हुए फिनाले जोधपुर, राजस्थान के मोहम्मद फैज ने जीत लिया। बता दें कि विनर की ट्रॉफी के साथ साथ ही उन्हें 15 लाख रुपये का नकद पुरस्कार भी मिला। ग्रैंड फिनाले पहुंचे टॉप 6 फाइनलिस्ट में फैज ने मणि, आर्यानंदा, प्रांजल , ऋतुराज और सायिशा को मात दी। मोहम्मद फैज इससे पहले साल 2018 में ‘लव मी इंडिया किड्स’ और ‘सारेगामापा लिटिल चैंपियन’ के उपविजेता रह चुके हैं। ‘अमर उजाला’ से एक खास मुलाकात में फैज ने बचपन से लेकर अब तक भगवान कृष्ण से अपने लगाव के कुछ अद्भुत किस्से साझा किए हैं।

बता दें कि 16 फरवरी 2008 को जोधपुर में जन्मे मोहम्मद फैज को संगीत विरासत में मिला है। नाना उस्ताद शकूर खान और दादा उस्ताद वसीर खान की संगत में उन्होंने बचपन से ही संगीत सीखना शुरू किया। फैज कहते हैं, ‘संगीत की धुन मेरे कानों में पहली बार बचपन में खेलते वक्त पड़ी। नानाजी और दादाजी की संगीत कक्षाओं से निकले इस संगीत को सुनकर मेरा झुकाव इस तरफ हुआ। मेरे नाना जी कहते थे, एक गाना सुनाने के बदले में 10 रुपये मिलेंगे। मैं रोज नए नए गाने याद करके उन्हें सुनता था और 10 रुपये मुझे मिलते। वहीं, मुझे याद है मैंने नानाजी को ऋतिक रोशन की फिल्म ‘अग्निपथ’ का गीत ‘अभी मुझसे कहीं’ सबसे पहले सुनाया। और इसके मुझे 10 रुपये मिले थे।’

इसी के साथ संगीत फैज को घुट्टी में मिला है। वह बताते हैं, ‘बचपन में मुझे रोते से चुप कराने के लिए मां गानों का सहारा लेती थीं। मेरी मां को मुझमें कृष्ण की छवि दिखती थी। मुझे भगवान कृष्ण से काफी लगाव रहा है। जन्माष्टमी महोत्सव में मैं कृष्ण बन भी चुका हूं।’ जोधपुर के एमएमएलजेडएल स्कूल में फैज नौवीं कक्षा में पढ़ रहे हैं। शो के दौरान भी वह ऑनलाइन क्लासेस लेते रहे। फैज कहते हैं, ‘इस शो के दौरान मैंने अपने स्कूल के दोस्त को बहुत ही मिस किया। दोस्तों के बिना मेरी बहुत ही इमोशनल जर्नी रही है। जोधपुर जाने के बाद सबसे पहले मैं अपने स्कूल के दोस्तों से मिलूंगा।’

वहीं, मोहम्मद फैज इस समय 14 साल के है। अपने दादा और नाना से उन्होंने क्लासिकल संगीत की शिक्षा ली है। वह पियानो, गिटार, ढोलक, तबला, सितार, कीबोर्ड जैसे वाद्ययंत्र बजा लेते है। फैज कहते हैं, ‘संगीत से जुड़े लोगों को हर रोज रियाज करना बहुत जरूरी है। नानाजी कहा करते हैं कि अगर 100 दिनों तक रियाज किया और एक दिन रियाज नहीं किया तो आप 100 दिन पीछे चले जाएंगे। इसलिए हर रोज रियाज करना बहुत जरूरी है। जब मैं छोटा था तब रियाज करने में बहुत आलस आता था, लेकिन अब रोज रियाज करता हूं।’

आम तौर पर ऐसा माना जाता है कि गायक को खाने पीने के चीज में काफी परहेज करना पड़ता है। फैज कहते हैं, ‘मैंने भी देखा है कि लोग खाने पीने में बहुत परहेज करते लेकिन मैं बिल्कुल भी परहेज नहीं करता, जब शो के दौरान लोग मुझसे कहते थे कि गरम पानी पिया करो, शहद खाओ, नमक पानी से गरारे करो तो सुनकर बहुत फनी लगता था। मैं सब कुछ खाता हूं। उन लोगों को चिढ़ा चिढ़ा कर मैं आइस क्रीम, पानी पूरी और बर्फ के गोले खाता था। मैं तो रोज ठंडा पानी भी पीता हूं। मेरा मानना है कि आप अपने शरीर को जैसी आदत डालेंगे आप का शरीर वैसा ही रहेगा। आप खा पीकर शरीर को जितना खुश रखेंगे आप का गला उतना ही अच्छा होगा।’

वहीं,फैज के पिता सजीर खान जोधपुर में एक परफ्यूम की दुकान में काम करते हैं। उनकी मां हाउस वाइफ है । दो छोटी बहनों से वह बहुत प्यार करते हैं। फैज कहते है, ‘मुझे तो ट्रॉफी मिलनी थी वह मिल गई। मुझे पैसे की कोई जरूरत नहीं, इसलिए जीती हुई रकम मैं अपने मम्मी और पापा को दे दूंगा। यह उन पर निर्भर करता कि वह इन पैसों का क्या करते हैं।’

आपको बता दें कि अक्सर लोग दूसरे के बारे में राय देते हैं और हम दूसरों की राय मानकर खुद को उस रूप में ढालने की गलती कर बैठते हैं। फैज कहते हैं, ‘जितना आप खुद को जान सकते हो, उतना दूसरा कोई आपको नहीं जान सकता है। आप अपने आप को खुद जितना जानेंगे उतना ही फिट रहेंगे। जब आप खुद को जानने की कोशिश करेंगे तभी पता चल पाएगा कि क्या चीज आपको नुकसान कर रही है और क्या चीज फायदा पहुंचा रही है।’

Related posts

लाल सिंह चड्ढा और रक्षा बंधन ऑनलाइन लीक होने के कारण हो सकता है, भारी नुकसान।

doonprimenews

Angoori Bhabhi पहुंची मालदीव, बिकिनी पहन शेयर करदी ऐसी फोटो, फैंस हो गए पानी पानी

doonprimenews

फिल्म इंडस्ट्री में काम ना मिल पाने के दौरान सब्जी बेचने लगी यह मशहूर अदाकार, सोशल मीडिया पर फोटोस हुई वायरल।

doonprimenews

Leave a Comment