Demo

बड़ी खबर देहरादून से जहाँ मुस्लिम व्यक्ति के पूजन का सामान बेचने पर रूद्र सेना और विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल के कार्यकताओं ने कालसी गेट बाजार में धरना प्रदर्शन किया। विरोध में दुकान को बंद करा दिया। मामला बिगड़ता देख कालसी थाना पुलिस ने रूद्र सेना के संस्थापक राकेश तोमर उत्तराखंडी को हिरासत में लेकर दुकान को खुलवाया।


जी हाँ,प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं को बाजार से खदेड़ा। हालांकि कुछ देर बाद पुलिस ने कड़ी हिदायत देकर राकेश तोमर उत्तराखंडी को रिहा कर दिया। शनिवार की रूद्र सेना और विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल के कार्यकर्ता रूद्रसेना के संस्थापक राकेश उत्तराखंडी के नेतृत्व में कालसी बजार में एकत्र हुए। जहां उन्होंने विरोध में धरना प्रदर्शन किया।


वहीं राकेश तोमर उत्तराखंडी ने आरोप लगाया कि डेयरी फार्म की दुकान एक महिला के नाम आवंटित है। जिसने नियम विरूद्ध दुकान को करीब चार माह पूर्व एक धर्म विशेष के व्यक्ति को किराए पर दे दिया। जिसमें वह व्यक्ति परचून की दुकान चला रहा है। आरोप लगाया कि धर्म विशेष की पहचान छिपाकर पूजन सामग्री भी बेची जा रही है। जिससे हिंदू धर्म की आस्था से खिलवाड़ हो रहा है।


आपको बता दें की उन्होंने कहा कि बाजार में मीट की दुकान में धर्म विशेष की पहचान छिपाकर संचालित की जा रही है। दुकान के बाहर हलाल का बोर्ड नहीं लगाया जा रहा है। कहा कि ऐसी दुकानें किसी भी सूरत में संचालित नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि यदि सात दिन के भीतर डेयरी प्रबंधन दुकान का आवंटन निरस्त नहीं करता तो फिर से आंदोलन किया जाएगा।

यह भी पढ़े –*Uttarakhand :लव जिहाद और लैंड जिहाद के मामले को लेकर दिल्ली से पहुंचा मुस्लिम प्रतिनिधिमंडल, सीएम धामी से की मुलाकात*


किसी को माहौल खराब नहीं करने दिया जाएगा। राकेश उत्तराखंड को हिदायत देकर रिहा कर दिया गया है। इस संबंध में डेयरी प्रबंधन से भी वार्ता की गई है। प्रबंधन को दुकान से संबंधित विवाद निपटाने को कहा गया है। बिना किसी सरकारी आदेश के किसी की दुकान बंद कराना गैर कानूनी है। दुकान को खुलवा दिया गया है।- रविंद्र नेगी, थानाध्यक्ष कालसी

Share.
Leave A Reply