Doon Prime News
National

भारतीय सेना और चीन की सेना के बीच हालिया समय में नहीं हुई कोई झड़प

भारतीय सेना और चीन की सेना के बीच हालिया समय में नहीं हुई कोई झड़प

पूर्वी लद्दाख(Eastern Ladakh) में भारत(India) और चीन(China) की सेना के बीच किसी तरह की ताजा झड़प से इनकार करते हुए भारतीय सेना(Indian Army) ने आज उन दावों को सिरे से खारिज कर दिया जिसमें कहा जा रहा था कि दोनों देशों के बीच हुआ समझौता भी रद हो गया है। साथ ही सेना ने यह भी कहा कि सीमा पर चीन(china) की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है।

भारत-चीन(India–china) सीमा पर दोनों देशों की सेना इन दिनों शांत है किसी की ओर से पूर्वी लद्दाख पर हावी होने की कोशिश नहीं की जा रही है। भारतीय सेना(Indian army) ने आज यह जानकारी दी। बता दे कि फरवरी में दोनों देशों की सेना वहां से हटी थी। साथ ही वहां तनाव के मुद्दों को सुलझाने के लिए दोनों पक्षों के बीच बातचीत जारी है। सेना ने बताया कि क्षेत्र में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (People’s Liberation Army) की गतिविधियों की मॉनिटरिंग की जा रही है। दरअसल मीडिया की ओर से यह खबर आ रही है कि चीनी सेना ने फिर से पूर्वी लद्दाख(Eastern Ladakh) में वास्तविक नियंत्रण रेखा (line of actual control) को पार कर लिया है और कम से कम एक बार दोनों पक्षों के बीच झड़प भी हो चुकी है।

इसे खारिज करते हुए आज सेना ने बयान जारी किया और बताया, ‘इस साल फरवरी में हुए समझौते के बाद से इलाकों को हथियाने की एक बार भी कोशिश नहीं की गई है जहां से सैनिकों की वापसी की गई। जैसा कि आर्टिकल(Article) में लिखा गया है उस तरह का कुछ नहीं है गलवन या किसी और हिस्से में कोई झड़प नहीं हुई है।’ साथ ही सेना ने यह भी कहा कि आर्टिकल में लिखा गया है कि चीन के साथ किया गया समझौता भी खत्म हो गया जो झूठ और आधारहीन है। सेना की ओर से कहा गया,’दोनों पक्षों के बीच समाधान को लेकर बातचीत जारी है और संबंधित क्षेत्रों में नियमित तौर पर पेट्रोलिंग की जा रही है। सीमा पर अब तक हालात सामान्य हैं। PLA गतिविधियों व सैनिकों के टर्नओवर को भारतीय सेना के द्वारा मॉनिटर किया जा रहा है।’ 

यह भी पढ़े-  प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के तहत 240 लाभार्थियों को दिया गया आवास कब्जा

बता दे की पिछले साल के मई में भारत (India) और चीन (China) के बीच हिंसक झड़प होने के बाद कई जगहों पर सेना की तैनाती की गई। सैन्य व राजनयिक वार्ता के बाद फरवरी में दोनों देशों ने पैंगोंग झील के उत्तर व दक्षिणी हिस्से से सैनिकों और हथियारों को हटा लिया था।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए  यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें. व्हाट्सएप ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें,

Share this story

Related posts

भारत में नहीं थम रहा कोरोना संक्रमण,24घंटे में राजधानी दिल्ली में फिर आए 18,819नए केस

doonprimenews

गुरु पूर्णिमा के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी शुभकामनाएं, भगवान बुद्ध के बारे में बताएं कुछ खास बातें

doonprimenews

त्योहारों का मौसम आ गया है, खरीदारी करने से पहले रखें इन बातों का ध्यान, ज्यादा लाभ मिलेगा

doonprimenews

Leave a Comment