Doon Prime News
crime

नशे में धुत पिता ने बच्ची के नाक पर किया वार, मौके पर हुई मौत

बच्ची

अंबिकापुर में रात में 3 साल की बेटी के रोने पर भड़का एक पिता नशे में धुत होने के कारण बच्ची की नाक पर वार कर दिया। इससे बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद अपनी पत्नी के साथ मिलकर बेटी के शव को उफनती घुनघुट्टा नदी में फेंक दिया। पुलिस गुमराह करने के लिए पिता ने अपनी बच्ची का अपहरण होने की रिपोर्ट दर्ज कराई। जांच में मामला सामने आने के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

बेटी की हत्या कर पुलिस को करा गुमराह
ग्राम पथराई निवासी प्रमोद मांझी ने 16 अगस्त 2022 को मैनपाट के कमलेश्वर थाने में अपनी बच्ची के गायब होने की सूचना दर्ज करवाई थी। उसने बताया कि 15 अगस्त की रात वह पत्नी सुमित्रा बाई 3 साल की बेटी विमला व तीन माह के दूधमुंहें बेटे के सो रहा था। घर के अलग कमरे में दो सदस्य और सो रहे थे। देर रात बेटी विमला ने उसे तेज आवाज लगायी। तब उसने अपनी बेटी को सो जाने के लिए कहा था। कुछ देर बाद उसकी बेटी की नींद खुल गई। तो उसके बाद बेटी गायब हो गई थी। उसने घर का दरवाजा खुला होने तथा किसी के द्वारा बेटी का अपहरण करने का शक जताया था। शिकायत की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। पुलिस अधीक्षक भावना गुप्ता ने एएसआई भूपेंद्र सिंह के नेतृत्व में एक विशेष टीम का भी गठन किया।

जांच के दौरान पता चला कि पुलिस को पूरी जानकारी नहीं दी गई थी
इधर, थाना प्रभारी कमलेश्वरपुर शिशिरकान्त सिंह देखरेख में पुलिस की दूसरी टीम रिश्तेदारों, पड़ोसियों और जानने वालों से पूछ्ताछ करने लगी। जांच के दौरान यह पता चला कि गायब बच्ची के माता पिता ने पुलिस को पूरी जानकारी ही नहीं दी। संदेह होने पर उनसे कड़ी पूछ्ताछ की गई। इस पर दोनों ने बेटी की हत्या और शव को नदी में फेंकने की बात स्वीकार कर ली। पुलिस टीम ने ग्रामीणों के साथ घनघुट्टाऊ नदी किनारे केसरा में दोमुहानी के पास झाड़ी में फंसा शव बरामद कर लिया। पुलिस ने पति पत्नी के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़े – BCCI ने किया इंग्लैंड के खिलाफ महिला टीम का ऐलान, जाने किस-किसको किया गया टीम में शामिल

दूधमुंहे बच्चे को मिली सजा
घटना के बाद दुखद पहलू तो यह है कि माता पिता की सजा एक दूधमुंहे बच्चे को भुगतनी पड़ेगी। उनके तीन महीने के बच्चे की देखभाल करने वाला अब कोई नहीं है। ऐसे में न्यायालय के आदेशों पर बच्चा भी माँ के साथ जेल गया है।
कार्रवाई में थाना प्रभारी कमलेश्वर, शिशिरकान्त सिंह, सहायक उप निरीक्षक भूपेश सिंह, आरक्षक विकास सिंह, अमित विश्वकर्मा एवं विजय की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Related posts

सिद्धू मूसेवाला की हत्याकांड में हुआ बड़ा खुलासा गैंगस्टर मन्ना और रूपा से बरामद हथियारों की फोरेंसिक रिपोर्ट में हुआ ये बड़ा खुलासा।

doonprimenews

ट्रक में सवार arvind तीनों मेरी आँखों के सामने जिंदा जल गए, किसी ने सुना तक नहीं

doonprimenews

कुमाऊं मंडल में लगातार बढ़ रहे साइबर ठगी के मामले, जनवरी से अब तक 130 केस दर्ज

doonprimenews

Leave a Comment