Doon Prime News
uttarakhand

रिश्ते शर्मसार: मामी से अवैध संबंधों के चलते भांजे ने खेला खूनी खेल, सगे मामा को पहुंचाया मौत के घाट।

Uttrakhand से एक बड़ी खबर सामने आ रही है खबर के अनुसार बताया गया है कि Kashipur में मामी से अवैध संबंधों के चलते सगे भांजे ने ही बृजमोहन की हत्या की थी। postmortem report में पत्थर से चोट पहुंचाने और गला घोंटकर हत्या किए जाने की पुष्टि की गई है। पुलिस ने बृजमोहन की पत्नी और उसके भांजे को गिरफ्तार किया है। पत्नी के विरुद्ध हत्याकांड का षड़यंत्र रचने और साक्ष्य छिपाने की धाराओं के तहत कार्रवाई की गई है।

वहीं,पुलिस के मुताबिक 20 मई की रात करीब 11 बजे ग्राम गोपीपुरा स्थित खाली खेत में एक युवक का शव पड़ा मिला था। उसकी शिनाख्त गोपीपुरा निवासी बृजमोहन (31) पुत्र शिवचरन सिंह के रूप में हुई थी। पुलिस के मुताबिक 20 मई की शाम बृजमोहन घर के पास लगे freezer से ठंडा पानी लाने की बात कहकर निकला था लेकिन वापस नहीं आया।

बताया गया है कि उसका शव freezer के पास खेत में लहूलुहान पड़ा मिला। उसके शरीर पर चोट और गले में रगड़ के निशान थे। पुलिस ने बताया कि बृजमोहन के भाई बुद्ध सिंह ने अपने सगे भांजे सौरभ पर हत्या करने का शक जताते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस और SOGकी टीम ने सौरभ को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो उसने हत्या का जुर्म कबूल लिया।

बृजमोहन और प्रीति ने किया था प्रेम विवाह
इसी के साथ पुलिस के मुताबिक सौरभ ने द्वारा बताया गया है कि मार्च 2021 से उसके मामी प्रीती उर्फ लाडो से अवैध संबंध थे। बृजमोहन अक्सर शराब के नशे में उसके साथ मारपीट करता था। मामा को उन दोनों के संबंधों के बारे में भनक लग गई थी। 20 मई की शाम उसने अपने मामा को शराब पिलाने के लिए खेत पर बुलाया और नशे की हालत में सिर पर पत्थर मारकर और लोअर से गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने मौके से शराब के गिलास और खाली बोतल बरामद की है। पुलिस के अनुसार शिवचरन हेमपुर डिपो से ही रिटायर हुए थे और बृजमोहन भी हेमपुर डिपो में मजदूरी करता था।

यह भी पढ़ें – *अगर आप चाहते है की Heart Attack का खतरा आपसे रहे लाखो दूर तो दही (Curd) के साथ जरूर करे इस चीज का सेवन।*

आपको बता दें कि वर्ष 2005 में बृजमोहन का गोपीपुरा में ननिहाल में रह रही मुरादपुर, हापुड़ (यूपी) निवासी प्रीती कौर से प्रेम विवाह हुआ था। उसका एक बेटा और बेटी है।
वारदात के बाद प्रीती की भूमिका ने उसे शक के दायरे में ला खड़ा किया। वह बार-बार पुलिस अधिकारियों को फोन कर पति का postmortem न कराने के लिए गुहार लगाती रही। वह इसे दुर्घटना बता रही थी। SSP मंजूनाथ टीसी ने बताया कि आरोपी पत्नी प्रीती का हत्या का षड्यंत्र रचने और साक्ष्य छिपाने के आरोप में चालान किया गया है।

Related posts

उत्तराखंड सरकार पेपर लीक मामले में उठाने जा रही है बड़ा कदम, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ले सकते है ये बड़ा फैसला

doonprimenews

दिल्ली MCD चुनाव के लिए प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया ने उत्तराखंड से स्टार प्रचारकों के नाम की की घोषणा

doonprimenews

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष प्रीतम सिंह (Pritam Singh) ने प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव पर खड़े किये बड़े सवाल

doonprimenews

Leave a Comment