Doon Prime News
uttarakhand

Dehradun Metro का ये रहेगा रूट, रहेंगे ढेरों स्टेशन, इतना लगेगा बजट

Dehradun Metro Root

Dehradun Metro Root : अब उत्तराखंड के लोगों को भी जल्द मेट्रो की सुविधा का लुत्फ उठाने का मौका मिल सकता है। बता दें कि इसे लेकर सरकार की तैयारियां तेज हो रही हैं। राज्य में मेट्रो नियो चलाने की तैयारी जोरों पर चल रही हैं।

दरअसल Dehradun Metro का सपना सबसे पहले हरीश रावत सरकार में देखा गया था। ‌ हरीश रावत की सरकार के दौरान मित्रों को लेकर काफी काम भी हुआ था। Metro corporation बनाया गया, रूट तय हो गए। यहां तक कि राजधानी में मेट्रो रूट पर प्लस के लिए सॉइल टेस्टिंग भी शुरू हो गई। लेकिन यह सपना पूरा होने से पहले ही चुनाव हो गए और हरीश रावत की सत्ता में वापसी नहीं हो पाई। जिसके बाद पूरे 5 साल बीजेपी सरकार में मेट्रो को लेकर माथापच्ची चलती रही लेकिन कोई एक राय नहीं बन पाई। बीजेपी सरकार में मुख्यमंत्री को लेकर पैदा हुई स्थिरता भी इसकी एक बड़ी वजह रही। बाद में यह तय हुआ कि मेट्रो की जगह मेट्रो नियो का संचालन किया जाएगा।

जानिए कैसी होगी मेट्रो नियो

Dehradun Metro Neo में Medellin tram coaches लगेंगे। यहां चलने वाली मेट्रो बहुत हद तक विदेशों में चल रही मृत्यु की तरह ही होगी। यह सिस्टम रेल गाइडेड सिस्टम है, जिसमें रबड़ के टायर वाली इलेक्ट्रिक कोच होते हैं। इसके कोच पीलिया एलुमिनियम के बने होते हैं। इसमें इतना पावर बैंक होता है कि बिजली जाने पर भी यह 20 किलोमीटर तक चल सकती है। सामान्य सड़क के किनारों पर फेंसिंग करके यह दीवार बनाकर इस पर ट्रैक तैयार किया जा सकेगा। इसमें ऑटोमेटिक ट्रेन प्रोटक्शन सिस्टम होगा जिसमें स्पीड लिमिट का प्रावधान भी होगा। बता दे कि मेट्रो नियो में टिकट का सिस्टम क्यूआर कोड या सामान्य मोबिलिटी कार्ड से होगा। इसके ट्रैक की चौड़ाई लगभग 1.1 मीटर होगी और जहां रुकेगी वहां करीब 8 मीटर का साइड प्लेटफॉर्म होगा। इसके साथ ही एक कोच की लंबाई 7 मीटर के करीब होगी।

read this : बड़ी खबर :नौकरी के बदले उत्तराखंड में मांगी जा रही थी रिश्वत, 150 से अधिक शिकायतें हुई दर्ज, ये है अपडेट

Dehradun Metro पहले फेज में बनेंगे ये कॉरिडोर

उत्तराखंड में मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के द्वारा पहले फेज में दो कॉरिडोर तैयार किए जाएंगे। Dehradun Metro का पहला कोरिडोर आईएसबीटी से घंटाघर के बीच होगा जिसकी लंबाई करीब 8 किलोमीटर होगी और इसमें 10 स्टेशन आएंगे तो वही जो दूसरा कॉरिडोर होगा वह FRI. से रायपुर के बीच होगा यह कॉल्ड और करीब 13 किलोमीटर लंबा होगा और इसमें 15 स्टेशन आएंगे जब यह दो कॉरिडोर का काम सफलतापूर्वक हो जाएगा तो फिर एक दूसरा कॉरिडोर बनाया जाएगा जो पैसे लेकर नेपाली फॉर्म तक होगा।

Metro rail corporation के द्वारा इस पूरे प्रोजेक्ट के लिए करीब 1850 करोड़ रुपए का प्रस्ताव रखा गया है। इसका DPR केंद्र को भेज दिया गया है, उसका थर्ड पार्टी रिव्यू करा कर उस सवाल भी पूछे थे। जिसके जवाब भी अब केंद्र सरकार को भेज भी दिए गए है। अब महज कुछ औपचारिकताएं पूरी होनी रह गई है, जिसके बाद यह काम जल्द से जल्द पूरा करने की तैयारी होगी।

Related posts

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग का बड़ा फैसला, पीसीएस की मुख्य परीक्षा की गई स्थगित, अब अगले साल जनवरी में आयोजित की जाएगी परीक्षा

doonprimenews

न्यूज चैनल की एंकर ने काटी हाथ की नस, VIDEO बनाकर पति को भेजा, पुलिस ने ऐसे बचाई जान

doonprimenews

अब इन अस्पतालों में लोगो को नहीं मिलेगा आयुष्मान योजना का लाभ.

doonprimenews

Leave a Comment