Doon Prime News
dehradun

इस महीने से देहरादून से दिल्ली की रोडवेज बस सेवा पर संकट के बादल छाने वाले हैं।

दिल्ली

एक खबर सामने आई है, जिसमें बताया जा रहा है कि 1 अक्टूबर से देहरादून से दिल्ली की रोडवेज बस सेवा पर संकट के बादल छाने वाले हैं। दिल्ली सरकार के बीएस -6 वाहनों को ही प्रवेश देने के आदेश के बाद परिवहन निगम में सीएनजी बसों का टेंडर भी निकाला। लेकिन उसमें कंपनियां नहीं आई अब निगम के सामने 30 सितंबर तक बसों का इंतजाम करने की कड़ी चुनौती आ गई हैं।

दरअसल दिल्ली सरकार ने एक पत्र राज्य परिवहन निगम को भेजा था, जिसमें उन्होंने साफतौर पर कहा था कि 1 अक्टूबर केवल उन्हीं रोडवेज बसों को दिल्ली में एंट्री दी जाएगी जो भी बीएस -6 स्टैंडर्ड की होगी। उत्तराखंड पर परिवहन निगम के पास अभी वॉल्वो और अनुबंधित मिलाकर करीबन 50 रोडवेज बसें ही उपलब्ध है, जो कि बीएस की ही है। निगम के करीबन 250 बसें उत्तराखंड से दिल्ली जाती है।

परिवहन निगम ने जून के महीने में 141 सीएनजी बसों के लिए टेंडर निकाला था। इस टेंडर से बामुश्किल 50 बसों के लिए ही एक दो कंपनी सामने आई। एक महीने के अंदर 200 सीएनजी बसों के लिए अगर दोबारा टेंडर भी निकाला गया तो इतने कम समय में बसों की आपूर्ति चुनौतीपूर्ण है। हालांकि परिवहन निगम के एमडी रोहित मीणा का कहना है कि एक महीने के अंदर बसों का इंतजाम पूरा कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़े -Portronics ला रहा है ऐसा धमाल मचाने वाला projector, जो घर की दीवार को बना देगा 200इंच का टीवी

बस सेवा बंद होने के कारण होगा काफी नुकसान
उत्तराखंड से दिल्ली जाने वाली बस सेवा से परिवहन निगम को सबसे ज्यादा कमाई होती है। ऐसे में अगर इस समय ये बसें उपलब्ध नहीं हुई तो परिवहन निगम को काफी नुकसान हो सकता है। ऐसा बताया जा रहा है कि अगर दिल्ली की बस सेवा बंद हो गई तो 50% राजस्व का नुकसान हो जाएगा।

Related posts

उत्तराखंड:आज धामी कैबिनेट की बैठक ,इन मामलों पर सरकार ले सकती है बड़ा फैसला

doonprimenews

new year celebration: मसूरी में नाइट कर्फ्यू की उड़ी धज्जियां, पुलिस-प्रशासन के दावों की खुली पोल

doonprimenews

नशा मुक्ति केंद्र में हुई  मौत,  पुलिस ने किया छह अभियुक्त को  गिरफ्तार

doonprimenews

Leave a Comment