Doon Prime News
Uncategorized uttarpradesh

Lucknow का लुलु मॉल एक बार फिर नमाज और हनुमान चालीसा को ले कर आया विवादों में ,जानें अब क्या हुआ नया विवाद

खबर उत्तरप्रदेश के लखनऊ से है जहाँ रविवार को उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा northeast के सबमॉल से बड़े मॉल लुलु मॉल का उद्घाटन किया गया था लेकिन अब यही मॉल सुर्ख़ियों में भी बना हुआ है.मॉल के सुर्ख़ियों में बने रहने का कारण यहाँ हो रहे विवाद हैं। विवाद होने का कारण यह है की पहले इस मॉल में मुस्लिमों के द्वारा नमाज पढ़ी गई थी और अब हिन्दू संगठन भी यहाँ हनुमान चालीसा पढ़ने की बात कर रहे हैं

बता दे कि लुलु मॉल में नमाज पढ़ने के विषय में मॉल के प्रबंधन एफ आई आर दर्ज करवाई गई है। वॉल प्रबंधन का कहना है नमाज पढ़ने वाले कोई अज्ञात व्यक्ति थे। वहीं वो इस बात को भी साफ करते हैं कि नमाज पढ़ने वाले लोगों में उनका स्टाफ शामिल नहीं था। पुलिस द्वारा अज्ञात व्यक्तियों पर एफआईआर दर्ज कर दी गई है। आपको बता दें कि लखनऊ के सुशांत गोल्फ सिटी में बना लुलु मॉल उद्घाटन के बाद से ही विवादों में बना हुआ है। इसी मॉल के अंदर नमाज पढ़ने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा था ये वीडियो मोबाइल में एडिट कर कर बनाया गया था।

मॉल के भीतर नमाज पढ़ने का वीडियो वायरल होते ही बवाल मच गया और हिंदू संगठन को यह बात बिल्कुल भी पसंद नहीं आई। जैसे ही हिंदू संगठन नमाज के जवाब में मॉल में हनुमान चालीसा पढ़ने के लिए निकले तो पुलिस द्वारा इन्हें रोक दिया गया। मॉल के अंदर नमाज पढ़ने की खबर हिंदू संगठनों के साथ साथ संतो और महंतों को भी अच्छी नहीं लगी अयोध्या में हनुमानगढ़ी के महंत राजू दास नाराज हो गए। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर नमाज पढ़ने का सिलसिला चला तो मॉल के भीतर हनुमान चालीसा भी पढ़ने के लिए वह जाया करेंगे।

यह भी पढ़े –यहाँ पत्रकारों पर चली गोली, जान से मारने की कोशिश हुई नाकाम, जानें क्या है पूरा मामला

महेंद्र महंत राजू दास महंत राजू दास यह भी आरोप लगाते हैं कि साजिश के लिए 80 प्रतिशत मुस्लिम लड़को और 20प्रतिशत हिंदू लड़कियों को नौकरी में रखा गया है। आरोपों को खारिज करते हुए लुलु मॉल के जीएम समीर वर्मा बताते हैं कि वे किसी धार्मिक आयोजन के लिए यहां पर परमिशन नहीं देते हैं और ना ही किसी धार्मिक आयोजन का सपोर्ट करते हैं। वही जीएम नोमान खान कहते हैं कि हमने वॉक इन इंटरव्यू कर के लोगों को नौकरी दी है, हमारे यहां जो आउटलेट्स दिए गए हैं हमारे यहां जो आउटलेट दिए गए हैं, उनमें वर्गों में कोई भेदभाव नहीं किया गया है। वे कहते हैं कि हमारे यहां एंप्लॉय के साथ किसी भी तरह के साथ किसी भी तरह का कोई पक्षपात नहीं किया जाता है।

|

Related posts

उत्तराखंड से हटाया गया night curfew, जानिए क्या होंगें नियम

doonprimenews

17 most readily useful One-Night stay internet sites (able to decide to try)

doonprimenews

उत्तर प्रदेश की पुलिस ने भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने से संबंधित ट्वीट करने वाले युवक को किया गिरफ्तार, जानिए पूरा मामला।

doonprimenews

Leave a Comment