Doon Prime News
nation

Sugar price : तेल तो सस्ता हुआ अब चीनी भी हो जाएगी सस्ती, सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम

Sugar

बढ़ती महंगाई के बीच गेहूं के निर्यात पर रोक लगाने के बाद केंद्र सरकार द्वारा अब चीनी (Sugar) को लेकर भी बड़ा फैसला लिया गया है। बता दे की 1 June से चीनी (Sugar) के निर्यात पर प्रतिबंध लग जाएगा। सरकार का कहना है कि बढ़ते चीनी (Sugar)के दामों को रोकने और देश में इसकी सुचारू सप्लाई जारी रखने के लिए ये फैसला लिया गया है।

इस साल 31 October तक ये पाबंदी रहने वाली है जारी।

चीनी (Sugar) Export पर बैन क्यों?

हालाँकि सरकार द्वारा लिए गए इस फैसले को लेकर पहले से ही अटकलें लगाई जा रही थीं। जिस तरह से चीनी (Sugar) के दामों में वृद्धि होती दिख रहीथी, तो वही जिस पर Expert मानकर चल रहे थे की गेहूं के बाद चीनी (Sugar) निर्यात पर भी कैची चल सकती है। अब केंद्र सरकार द्वारा उसी दिशा में कदम उठा दिया गया है। बताया जा रहा है की 1 June से कुछ प्रतिबंध लगा दिए जाएंगे। कहा जा रहा है कि चीनी (Sugar) सीजन (30 September 2022) के अंत में चीनी (Sugar) का Closing Stock 60-65 LMT तक बना रहे, इसी की वजह से सरकार द्वारा निर्यात पर ये सख्त फैसला लिया गया है।

आसान शब्दों में सरकार इस बार अपने पास कम से कम 2 से 3 महीने का अतिरिक्त चीनी स्टॉक (Sugar Stock) रखना चाहती है जिससे देश के लोगों की बढ़ती मांग को पूरा किया जा सके। वैसे तो आंकड़े बताते हैं कि देश ने भारी मात्रा में चीनी (Sugar) का निर्यात किया है। पिछले साल 60 LMT तक चीनी (Sugar) निर्यात का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन असल में 70 LMT चीनी (Sugar) Export कर दी गई। इसी तरह इस साल भी 82 LMT चीनी (Sugar) शुगर मिल से Export के लिए भेजी जा चुकी है, वहीं 78 LMT तो Export भी हो गई। इस साल का चीनी (Sugar) निर्यात अब तक का सबसे ज्यादा माना जा रहा है।

चीनी (Sugar) का कितना Production, क्या दाम?

साथ ही अगर चीनी (Sugar) के दाम की बात करें तो वर्तमान में होलसेल बाजार में इसकी कीमत 3,150 से 3,500 रुपये प्रति क्विंटल चल रही है। वहीं रिटेल के दाम पर नजर डालें तो देश के अलग-अलग हिस्सों में इसका रेट 36 से 44 रुपये चल रहा है। सरकार की माने तो वो लंबे समय से चीनी (Sugar) के निर्यात से लेकर उसके प्रोडक्शन तक पर नजर बनाए हुए है। ऐसे में देश के लोगों को प्राथमिकता देते हुए निर्यात पर कुछ पाबंदियां लगाने का फैसला हुआ है।

वैसे सरकार ने अपने आदेश में ये भी स्पष्ट कर दिया है कि ये पाबंदी सीएक्सएल और टीआरक्यू के तहत यूरोपीय संघ और अमेरिका को निर्यात की जा रही चीनी (Sugar) पर लागू नहीं होने वाली है। सीएक्सएल और टीआरक्यू के तहत इन क्षेत्रों में एक निर्धारित मात्रा में चीनी (Sugar) का Export किया जाता है। लेकिन इन देशों के अलावा कहीं और अभी चीनी (Sugar) Export नहीं होने वाला है। 1 June से भारत ने चीनी (Sugar) निर्यात को प्रतिबंधित श्रेणी में रख दिया है।

सरकार द्वारा दी गई सस्ते तेज की सौगात

इस सब के अलावा केंद्र सरकार ने खाने के तेल पर बड़ा फैसला लिया है। 2 साल के लिए सरकार द्वारा Custom Duty खत्म कर दी गई है। बता दे की सोयाबीन और सूरजमुखी तेल के आयात पर Custom Duty खत्म की गई है। कृषि और बुनियादी शुल्क और विकास सेस भी खत्म किया गया है। सरकार की तरफ से बताया गया कि क्रूड सोयाबीन ऑयल और क्रूड सूरजमुखी के ऑयल के दो वित्तीय वर्ष (2022-23, 2023-24) के लिए प्रति साल 20 लाख मीट्रिक टन का आयात Duty Free किया गया है। दरहसल, इससे पहले भी सरकार की ओर से Petrol-Diseal और रसोई गैस सिलेंडर में राहत दी गई थी। केंद्र ने Petrol पर 8 रुपये और Diseal पर 6 रुपये एक्साइज ड्यूटी कम की थी।

यह भी पढ़े- Dehradun Breaking : bank account से 31 लाख रुपए किए गायब, फिर ऐसे लगा दिए ठिकाने, एसटीएफ ने किया खुलासा

खाने का तेल हो सकता है सस्ता, सरकार ने दो साल के लिए कस्टम ड्यूटी खत्म की भारत से खुश हुआ मिस्र, अब डिमांड लेकर दरवाजे पर खड़े 12 और देश।

Related posts

यहाँ मौज-मस्ती के लिए घूमने गए कुछ छात्रों की पानी में डूबने से हुई मौत, इस College के थे छात्र

doonprimenews

PM Modi को जान से मारने की साजिश का हुआ खुलासा, NIA को आया था धमकी भरा mail

doonprimenews

UAE में PM Modi का हुआ जोरदार स्वागत, पाकिस्तान को लगी मिर्ची,कह डाली ये बात

doonprimenews

Leave a Comment