Doon Prime News
nation National

मार्केट से अचानक गायब हो रहा हैं 2000 का नोट, जानिए क्यों और कैसे

2000 का नोट

आज के जमाने में पैसा बहुत जरूरी चीज हो गया है या यूं कहें तो बिना पैसे के जिंदगी गुजारना बेहद मुश्किल है। अक्सर सैलरी आने पर या पैसे आने पर चेहरे पर चमक आ जाती है खासतौर पर है। लेकिन आपको बता दे कि ज‍िस नोट के हाथों में आने से चेहरे पर चमक आ जाती है वो 2000 का नोट आजकल बाजार के चलन में कम द‍िख रहा है. शायद आपने भी इसे notice क‍िया हो। आख‍िर इसके बाजार से गायब होने के पीछे का सच क्‍या है? दरअसल, सरकार की तरफ से लोकसभा में जानकारी दी गई थी क‍ि वित्त वर्ष 2020 और 2021 में 2 हजार का नया नोट नहीं छापा गया है।

ऐसे घटा 2000 के नोटों का चलन

RBI के deta के अनुसार 2019 में एक लाख रुपये के नोटों में 2 हजार के नोटों (Bank Note) की संख्या 32910 रुपये होती थी। यह march 2021 तक घटकर 24510 रुपये रह गई। 30 लाख करोड़ रुपये के कुल circulation में 2 हजार के नोटों का मूल्य 2019 में 6 लाख 58 हजार करोड़ था। एक साल बाद 2020 में यह घटकर 4 लाख 90 हजार करोड़ रह गया।

500 रुपये के नोटों का चलन बढ़ा

31 march 2021 तक देश में चलन में आ रहे कुल note में 2000 और 500 रुपये के 85 प्रत‍िशत note थे। बाकी नोट 10, 20, 50 और 100 रुपये के थे। 31 march 2020 में यह आंकडा 83 प्रतिशत था. इससे साफ है क‍ि सर्कुलेशन में 500 रुपये के नोटों की संख्‍या बढ़ी है। 2000 के note से छोटे लेन-देने में द‍िक्‍कत होती है। इससे यह साफ है क‍ि 2000 के मुकाबले 500 और 100 रुपये के नोटों का चलन बढ़ गया है।

ATM से 2000 के नोटों के box हटाए

लोगों को छोटे लेनदेन में क‍िसी तरह की पेरशानी न हो, इसके ल‍िए ATM और bank की cash window से 500 रुपये के ही note ज्‍यादा म‍िल रहे हैं। सूत्रों का यह भी कहना है क‍ि ATM में धीरे-धीरे 2000 के note वाले box की जगह 500 के note वाला box लगाया जा रहा है। इतना ही नहीं ATM में note डालने वाली company को 2 हजार के नोट कम द‍िए जा रहे हैं।

यह भी पढ़े : नशा मुक्ति केंद्र में हुई  मौत,  पुलिस ने किया छह अभियुक्त को  गिरफ्तार

जमाखोरी की भी आशंका

जानकारों का कहना है क‍ि यह भी संभव है क‍ि 2 हजार के नोटों की जमाखोरी हो रही है। कुछ लोगों का यह भी कहना है क‍ि 5 राज्‍यों में चुनाव का announcement होने के बाद 2 हजार के नोट बाजार में कम दिख रहे हैं। आपको बता दें बड़े मूल्‍य वाले नोटों पर छपाई का खर्च भी ज्‍यादा आता है। ऐसे में इन नोटों की छपाई भी कम की जा रही है।

Related posts

PM Kisan Yojna : जल्द आने वाली है किसान निधि की 11वीं किस्त, यहां जल्दी चेक करें अपना स्टेटस

doonprimenews

Mann Ki Baat: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रेडियो कार्यक्रम जरिए देश की जनता को किया संवाद |

doonprimenews

गली में खड़ा कर रखा है 15 साल पुराना desel वाहन तो हो जाए सावधान, परिवहन विभाग ने जारी की अधिसूचना

doonprimenews

Leave a Comment