Doon Prime News
udhamsinghnagar

डिपो कर्मियों ने ओवरब्रिज के प्रोजेक्ट मैनेजर के साथ की बैठक, लगाए कई आरोप

डिपो कर्मियों ने ओवरब्रिज के प्रोजेक्ट मैनेजर के साथ की बैठक, लगाए कई आरोप

काशीपुर: उधमसिंह नगर के काशीपुर में करीब साढ़े चार साल से निर्माणाधीन महाराणा प्रताप चौक फ्लाईओवर  का एक हिस्सा बनकर तैयार हो चुका है. फ्लाईओवर से वाहनों की आवाजाही भी शुरू हो गई है. लेकिन फ्लाईओवर के निर्माण कार्य के चलते रोडवेज बसों का संचालन प्रभावित होने और डिपो के रामनगर शिफ्ट होने की सुगबुगाहट से गुस्साए डिपो कर्मियों ने अधिकारियों के साथ मिलकर ओवरब्रिज (ROB) की निर्माणदायी कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर के साथ बैठक की। बता दें कि, पिछले करीब साढ़े चार साल से धीमी गति से चल रहे फ्लाईओवर के निर्माण कार्य के कारण काशीपुर रोडवेज बस डिपो पर बसों के संचालन में बाधा उत्पन्न हो रही है. रोडवेज बसों को कार्यशाला और बस अड्डे तक आने-जाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। 

 इसको लेकर रोडवेज कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष अनवर कमाल, संयोजक कैलाश पांडे, रोडवेज कर्मचारी संघ अन्य कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारियों ने ओवरब्रिज (ROB) के दीपक बिल्डर प्रोजेक्ट मैनेजर जेएस मथारू के साथ सहायक महाप्रबंधक कार्यालय में बैठक कर वार्ता की।  करीब 1 घंटे तक चली बैठक में रोडवेज कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के द्वारा कहा गया कि रोडवेज बसों के आने के लिए उनके द्वारा विकल्प मार्ग खोला जाए। 

क्योंकि रोडवेज परिसर पूर्ण रूप से बंद नहीं किया जा सकता. स्टेशन के पीछे कार्यशाला, वाहनों की सफाई-धुलाई प्लांट, मेंटेनेंस प्लांट, डीजल पंप, अधिकारी कर्मचारी कार्यालय और स्टोर रूम आदि स्थित हैं, जिन्हें हटाना संभव नहीं है। इस पर दीपक बिल्डर प्रोजेक्ट मैनेजर जेएस मथारू ने वैकल्पिक मार्ग बनाए जाने का आश्वासन दिया। 

यह भी पढ़े –   हल्द्वानी में 30 दिसंबर को PM मोदी की जनसभा, SPG और नैनीताल SSP ने लिया सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा

 रोडवेज कर्मचारी संयुक्त मोर्चा अध्यक्ष अनवर कमाल ने आरोप लगाया कि आरओबी वाले रोडवेज बसों के संचालन पर रोक लगा रहे हैं।  जिससे काशीपुर रोडवेज बस डिपो से हजारों की तादाद में अन्य प्रदेशों को यात्री बसों में जाते हैं. जिससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. इनकी यह साजिश चल रही है कि रोडवेज बस अड्डे को यहां से हटा दें और हम इस पर कब्जा कर लें. उन्होंने कहा कि कहीं भी ओवरब्रिज बनता है तो पहले सर्विस लाइन बनाई जाती है. जिससे आने जाने-वालों को किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े. लेकिन काशीपुर में सर्विस लाइन न बनाने के कारण शहर में जाम की स्थिति बनी रहती है। 

 जिसके चलते काशीपुर डिपो का कार्य बाधित हो रहा है।  बैठक में यह निष्कर्ष निकल कर सामने आया है कि नगर निगम की ओर से गांधी आश्रम रास्ता प्रदान करेंगे. लेकिन उससे भी आने-जाने वाली बसों से जाम की स्थिति और उत्पन्न होगी, इनको वन वे मार्गों का संचालन करना चाहिए।  एक तरफ से बसें आएंगी और दूसरी तरफ से जाएंगी. तब जाकर जाम से राहत मिल सकती है।  रोडवेज बस डिपो के सहायक महाप्रबंधक रमेश पांडे ने कहा कि बैठक के दौरान यह निष्कर्ष निकलकर सामने आया है कि 2 महीने तक फ्लाईओवर का कार्य चलेगा. तब तक द्रोणा सागर रोड होते हुए बसों का संचालन किया जाएगा और वे पूरा सहयोग करेंगे।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए  यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें. व्हाट्सएप ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें,

Share this story

Related posts

यहां तेज रफ्तार ट्रक ने स्कूल बस को मारी टक्कर, 3 को फैक्चर, 6 बच्चे हुए गंभीर घायल।

doonprimenews

SSP दिलीप सिंह कुंवर की पत्नी ने सुनीं पुलिसकर्मियों के परिवार की समस्याएं, निदान का दिया भरोसा

doonprimenews

SSP दिलीप सिंह कुंवर की पत्नी ने सुनीं पुलिसकर्मियों के परिवार की समस्याएं, निदान का दिया भरोसा

doonprimenews

Leave a Comment