Doon Prime News
dehradun crime National uttarakhand

उत्तराखंड: रोते हुए बच्‍चे को पहले चांटे मार-मार कर चुप कराया, फ‍िर काटा गला; ऐसे लिया मालकिन से नौकर ने बदला।

जासं, काशीपुर : Uttarakhand Crime: जूस के ठेले पर काम करने वाले युवक ने दुकान के मालिक के डेढ़ साल के बच्चे का गला काटकर झाड़ियों में फेंक दिया था। मामले में आइटीआइ पुलिस द्वारा आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। दोशी को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया। बच्चे को गंभीर हालत में पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां अभी उसका इलाज चल रहा है।

आरोपित ने वारदात के बारे में जो भी बताया है उसे सुनकर आप चौक जाएंगे। बच्चे के रोने पर उसने बच्चे को थप्पड़ मार-मार कर चुप कराया था। इतना ही नहीं बच्चे के गले को काटकर झाड़ियों में फेंका तो पूरी रात लहूलुहान बच्चे को मच्छर व कीड़े काटते रहे।काशीपुर के सीओ अनुषा बडोला ने मंगलवार को आइटीआइ थाने में बताया कि सहारनपुर के बासठकुटा रोड राशिद गार्डन में रहने वाले मो. नदीम ने चैती मेले में जूस की दुकान लगाई है। वह अपने साथ अपनी पत्नी जीनत तथा 13 माह के इकलौते बेटे मो. आहद को साथ लेकर आया हुआ है।दुकान में काम में मदद के लिए आशू पुत्र पीरू निवासी रहमानी चौक हबीबगढ़ रोड कोतवाली देहात सहारनपुर को भी साथ लाया है

जांच में सामने आया है कि आरोपित का दुकान के मालिक पर 30 हजार रुपये तनख्वा बकाया है। उसके वेतन मांगने पर उन्होंने मेला खत्म होने के बाद देने को कहा। नदीम ने दुकान पर शराब न पीने के लिए भी आशू को मना किया था।

बच्चे का रोना थप्पड़ मार मार कर कराया चुप।

वेतन समय पर न देने तथा दुकान पर शराब पीने से मना करने की बात को लेकर उसने खुंदक पाल ली। जिसका बदला लेने के लिए नदीम के डेढ़ साल के बच्चे को इतवार रात करीब आठ बजे मेला घुमाने के लिए ले गया। उसके बाद बाजपुर रोड में एक ठेके पर बैठकर खाना खाते हुए शराब पी।

उसी दौरान बच्चे के रोने पर उसने थप्पड़ मार-मार कर चुप कराया। ठेके पर मौजूद लोगों को लग रहा था कि आरोपित का ही बेटा है, इसलिए वहां मौजूद लोगो में से किसी ने कुछ नहीं कहा।

पूरी रात खून से लतपथ बच्चे को मच्छर और कीड़े काटते रहे

ठेके पर खाने व शराब पीने के बाद आरोपित मालिक के बच्चे को लेकर पास के झाड़ियों के पीछे चला गया। जहां जूस की दुकान पर पड़े फल काटने वाले चाकू से उसका गला काटने की कोशिश की, गनीमत रही कि बच्चे के गले की नस नहीं कटी, अन्यथा अधिक खून बहने से उसकी जान भी जा सकती थी। गला काटने के बाद आरोपित बच्चे को झाड़ियों में छोड़कर रात तीन बजे वापस दुकान पहुंचा। लहूलुहान बच्चे को पूरी रात मच्छर और कीड़े काटते रहे।

यह भी पढ़े – देश को आज मिलेंगे Indian Forest Service: ( IFS ) के 99 अधिकारी, देहरादून में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु देगी अवॉर्ड ।

सुबह बच्चे के रोने की आवाज सुन लोगों ने दी पुलिस को सूचना

रात तीन बजे दुकान लौटने पर स्वजन के पूछने पर बच्चे के बारे में नशे में धुत आरोपित ने कुछ नहीं कहा। इसके बाद बच्चे के पिता स्वजन ने पुलिस में शिकायत की। सोमवार की सुबह बच्चे के रोने की आवाज सुनकर किसी राह चलते व्यक्ति ने पुलिस को सूचना दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने गंभीर हालात में बच्चे को लेकर एक पास के अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर अभी उसका इलाज चल रहा है। पुलिस ने आरोपित को चैती मेला से गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया है। पुलिस टीम में थाना प्रभारी प्रवीण सिंह कोश्यारी, एसआइ प्रकाश सिंह बिष्ट और एसआइ जीवन सिंह चुफाल व हेड कांस्टेबल शेखर बनकोटी शामिल रहे।

Related posts

स्कूल जाने के लिए निकली छात्रा को सांड ने कुचला , घरवालो और गाँव में पसरा मातम

doonprimenews

महिलाओं के साथ घेरलू हिंसा मे महिला सुरक्षा के प्रति संवेदनशील दून पुलिस अलग अलग थाना क्षेत्रों मे नियक्त की गयी 20 महिला चिता मोबाइल

doonprimenews

Aam Aadmi Party को लगा बड़ा झटका, उत्तराखंड चुनावों में पार्टी का चेहरा अजय कोठियाल ने दिया इस्तीफा

doonprimenews

Leave a Comment