Doon Prime News
Uncategorized

उत्तराखंड में निर्मित 12 दवाओं के सैंपल फेल, गुणवत्ता मानकों पर खरे नहीं उतरे; ड्रग अलर्ट जारी

उत्तराखंड में निर्मित 12 दवाओं के सैंपल जांच में फेल हो गए हैं। इनकी गुणवत्ता मानकों के अनुरूप नहीं पाई गई। उत्तराखंड की एक फार्मा कंपनी के नाम पर दिल्ली और पटना में नकली दवा बेची जा रही थी। सीडीएसओ द्वारा जारी अलर्ट के अनुसार, दिल्ली और पटना की दवा दुकानों से डोम्पेरिडोन नेप्रोक्सन सोडियम टैबलेट के सैंपल लिए गए थे। इनमें देहरादून, हरिद्वार और ऊधमसिंहनगर की निर्माण इकाईयों में निर्मित उच्च रक्तचाप, हृदय रोग, न्यूरो, नेत्र रोग, गैस्ट्रोपेरेसिस, एसिडिटी की दवाएं शामिल हैं।

पिछले माह भी उत्तराखंड में निर्मित 11 दवाओं के सैंपल फेल आए थे। भारत में निर्मित कुछ दवाओं की गुणवत्ता को लेकर हाल के वर्षों में सवाल उठे थे, विशेषकर जांबिया और उज्बेकिस्तान में बच्चों की मौत को भारत में बनी खांसी की दवा से जोड़ा गया था। इसके बाद केंद्र सरकार ने दवाओं की निगरानी बढ़ा दी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय हर माह दवाओं की जांच करा रहा है।

अप्रैल माह की जांच रिपोर्ट के अनुसार, देशभर में निर्मित 50 दवाएं गुणवत्ता मानकों के अनुरूप नहीं मिलीं, जिनमें उत्तराखंड में निर्मित 12 दवाएं भी शामिल हैं।

उत्पाद लाइसेंस निलंबित, बाजार से दवाएं वापस

खाद्य संरक्षा एवं औषधि प्रशासन के अपर आयुक्त एवं औषधि नियंत्रक ताजबर सिंह ने बताया कि सीडीएसओ की रिपोर्ट मिलने पर संबंधित कंपनियों के उत्पाद लाइसेंस निलंबित कर दिए गए हैं। जिन दवाओं के सैंपल फेल आए हैं, उन्हें बाजार से वापस मंगवा लिया गया है। औषधि निरीक्षक यह सुनिश्चित करेंगे कि संबंधित बैच की दवाओं की दुकानों पर बिक्री न की जाए।

उत्तराखंड की कंपनी के नाम पर दिल्ली-पटना में बिक रही नकली दवा

उत्तराखंड की एक फार्मा कंपनी के नाम पर दिल्ली और पटना में नकली दवा बेची जा रही थी। सीडीएसओ द्वारा जारी अलर्ट के अनुसार, दिल्ली और पटना की दवा दुकानों से डोम्पेरिडोन नेप्रोक्सन सोडियम टैबलेट के सैंपल लिए गए थे। दवा के भौतिक एवं विश्लेषणात्मक परीक्षण में पता चला कि यह नकली है। इस पर अब अग्रिम कार्रवाई की जा रही है।

यह भी पढें- Nainital High Court का निर्णय: उत्तराखंड में एक साल में रेगुलर पुलिस की व्यवस्था का आदेश

इन दवाओं के सैंपल फेल

  1. सिल्निडिपिन टैबलेट – मैस्काट हेल्थ सीरीज प्राइवेट लिमिटेड, हरिद्वार
  2. एट्रोपिन सल्फेट इंजेक्शन – एसवीपी लाइफ साइंसेज, सेलाकुई, देहरादून
  3. मेटोक्लोप्रमाइड इंजेक्शन – एसवीपी लाइफ साइंसेज, सेलाकुई, देहरादून
  4. एम्ब्रोक्सोल हाइड्रोक्लोराइड टरबुटलाइन सल्फेट गुआइफेनसिन मेन्थोल सिरप – जिनेका हेल्थकेयर प्राइवेट लिमिटेड, हरिद्वार
  5. गैबापेंटिन टैबलेट – मैस्काट हेल्थ सीरीज प्राइवेट लिमिटेड, हरिद्वार
  6. क्विनिन सल्फेट टैबलेट – श्रेया लाइफ साइंसेज प्राइवेट लिमिटेड, भगवानपुर, रुड़की
  7. एमोक्सिसिलिन पोटेशियम क्लैवुलनेट लैक्टिक एसिड बैसिलस टैबलेट – सुपरमैक्स लैब, सेलाकुई, देहरादून
  8. रेबेप्राजोल सोडियम टैबलेट – खंडेलवाल लेबोरेटरीज, पंतनगर, ऊधमसिंहनगर
  9. बिमाटोप्रोस्ट आई ड्रॉप – कोटेक हेल्थकेयर, रुड़की
  10. साइक्लोस्पोरिन कैप्सूल – जॉनली फार्मास्यूटिकल्स, हरिद्वार
  11. ट्रैनेक्सैमिक एसिड इंजेक्शन – साइकोट्रोपिक्स इंडिया लिमिटेड, हरिद्वार
  12. सेफ्ट्रिएक्सोन इंजेक्शन – हिमालय मेडिटेक प्राइवेट लिमिटेड, सेलाकुई, देहरादून

Related posts

बड़ी खबर: पहाड़ में लगातार बारिश के चलते ,लोग जान हथेली पर लेकर ऐसे कर रहें नदी पार, देंखे वीडियो।

doonprimenews

Haridwar: प्रेम में अड़चन बन रही थी दादी तो पोती ने करवा दी हत्या, बॉयफ्रेंड के दोस्त को ब्लैकमेल कर रचा सारा प्रपंच, दोनों गिरफ्तार

doonprimenews

No cost Antivirus Computer software – Which Antivirus Programs Are Worth Downloading?

doonprimenews

Leave a Comment