Doon Prime News
Uncategorized

श्रीनगर में पिंजरे में कैद हुआ आतंक मचाने वाला गुलदार, लोगों में छाई राहत

श्रीनगर में आतंक का प्रतीक बना गुलदार शुक्रवार को पिंजरे में बंद कर दिया गया। पिछले सप्ताह श्रीनगर के हैप्रेक संस्थान ग्लास हाउस के पास इस गुलदार ने चार दिनों में दो मासूम बच्चों को अपना शिकार बनाया था।

इसके बाद वन विभाग ने शूटर की तैनाती के साथ-साथ श्रीनगर और आसपास के क्षेत्रों में ट्रैप कैमरे लगाए। इसके अतिरिक्त, 11 पिंजरे भी लगाए गए थे। इनमें से एक पिंजरा श्रीनगर के ग्लास हाउस के पास लगाया गया था, जिसमें एक नर गुलदार पकड़ा गया।

यह भी पढ़े – देहरादून शहर के जाने माने बिल्डर बाबा साहनी ने छत की बिल्डिंग से कूद कर की आत्महत्या

गुलदार की उम्र लगभग छह साल बताई जा रही है। वन विभाग गुलदार को पौड़ी ले जा रहा है, जहां चिकित्सीय जांच के बाद यह तय किया जाएगा कि उसे जंगल में छोड़ा जाए या रेस्क्यू सेंटर में रखा जाए।श्रीनगर और श्रीकोट शहरी क्षेत्र में गुलदार के लगातार बढ़ते हमलों से भयभीत जनता अब आक्रोशित हो गई है। व्यापारियों, भाजपा कार्यकर्ताओं, विश्वविद्यालय के छात्रों और अन्य सामाजिक संगठनों ने प्रदेश सरकार और वन विभाग से मांग की है कि इस गुलदार को तुरंत आदमखोर घोषित किया जाए।

पिछले चार महीनों से गुलदार लगातार बच्चों को अपना शिकार बना रहा है, लेकिन वन विभाग उसे पकड़ने में असफल रहा है। भयभीत जनता की दिनचर्या भी बुरी तरह प्रभावित हो रही है। भाजपा जिला उपाध्यक्ष जितेंद्र रावत, भाजपा जिला महामंत्री बन्नू पैन्यूली, व्यापार सभा श्रीनगर के अध्यक्ष दिनेश असवाल, आरटीआई कार्यकर्ता कुशलानाथ और विश्वविद्यालय के छात्रों ने गुलदार को तुरंत आदमखोर घोषित करने की मांग की है। भाजपा के जिला उपाध्यक्ष जितेंद्र रावत, जिला महामंत्री गिरीश पैन्यूली बन्नू, व्यापार सभा अध्यक्ष दिनेश असवाल, भाजपा श्रीनगर मंडल अध्यक्ष जितेंद्र धिरवाण, संजय गुप्ता, दिनेश रुडोला, हरि सिंह बिष्ट और उद्योग व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष वासुदेव कंडारी, कुशलानाथ ने सीएम हेल्पलाइन में भी गुलदार के हमलों की शिकायत दर्ज कराई है और जनता को गुलदार के आतंक से मुक्ति दिलाने की मांग की है।वन विभाग द्वारा चार महीने में भी गुलदार को न पकड़ पाने से विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों और गणमान्य नागरिकों ने तीव्र आक्रोश व्यक्त किया है।

गढ़वाल केंद्रीय विवि छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष अंकित उछोली और छात्र संगठन आइसा के कार्यकर्ताओं ने बिड़ला परिसर श्रीनगर के मुख्य प्रवेश द्वार पर गुलदार के बढ़ते हमलों और वन विभाग की उदासीनता के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया।विवि छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष और शोध छात्र अंकित उछोली, शोध छात्र अतुल सती, पूर्व उपाध्यक्ष राबिन असवाल ने कहा कि वन विभाग की लापरवाही और उदासीनता के कारण ही गुलदार बच्चों को शिकार बना रहा है। बेरोजगार संघ के प्रदेश प्रवक्ता सुरेश सिंह, अतुल सती, अंकित उछोली, प्रियंका खत्री, समरवीर रावत, आशुतोष नेगी, तुषार नेगी, सौरभ पंवार, शिवांक नौटियाल और अन्य छात्रों ने भी इस विरोध प्रदर्शन में भाग लिया।

भाजपा जिला उपाध्यक्ष जितेंद्र रावत के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ता और व्यापारियों का एक प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को उपजिलाधिकारी श्रीनगर नुपुर वर्मा और डीएफओ पौड़ी स्वप्निल अनिरुद्ध को ज्ञापन देकर गुलदार को शीघ्र आदमखोर घोषित करने की मांग की।जनप्रतिनिधियों ने डीएफओ और उपजिलाधिकारी को बताया कि गुलदार के हमलों से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हो रहा है। घनी आबादी वाले शहरी क्षेत्र की सड़कों पर रात 9-10 बजे तक आवाजाही बनी रहती है। डीएफओ पौड़ी स्वप्निल अनिरुद्ध ने कहा कि विभाग इस मामले में उचित कार्यवाही कर रहा है।

Related posts

लैंसडौन में बड़ा हादसा: खाई में गिरी सूमो, नौ लोग थे सवार

doonprimenews

Nainital High Court का निर्णय: उत्तराखंड में एक साल में रेगुलर पुलिस की व्यवस्था का आदेश

doonprimenews

जागेश्वर धाम जा रहे पर्यटक की हार्ट अटैक से मौत, परिवार संग घूमने आए थे उत्तराखंड

doonprimenews

Leave a Comment