Doon Prime News
uttarakhand

भारी बारिश के बीच एक बार फिर शुरू हुई यमुनोत्री धाम की यात्रा, पहाड़ों में भारी बारिश से 166सड़कें बंद,63सड़कों को खोला गया

मलबा

उत्तराखंड में आज पहाड़ से लेकर मैदान तक भारी बारिश का सिलसिला रहने की चेतावनी जारी कर दी गई है। कुछ जिलों में बादल छाए हुए हैं खराब मौसम के बीच यमुनोत्री धाम की यात्रा एक बार फिर शुरू कर दी गई है। बता दे कि यमुनोत्री धाम के आसपास बादल छाए हुए हैं जबकि बड़कोट क्षेत्र में बारिश जारी है। गढ़वाल के साथ ही कुमाऊं के कुछ हिस्सों में भी बारिश का सिलसिला जारी है।
आपको बता दें कि चंपावत, नैनीताल, उधम सिंह नगर में अगले 24 घंटों में भारी से बहुत भारी बारिश के आसार हैं| इसे देखते हुए मौसम विज्ञानियों ने येलो अलर्ट भी जारी कर दिया है। अगले 24 घंटे के अंदर मैदान से लेकर पहाड़ तक झमाझम बारिश की संभावनाएं जताई थी। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक विक्रम सिंह ने बताया कि चंपावत,नैनीताल,उधम सिंह नगर में भारी बारिश की संभावना है बाकी जिलों में तेज गर्जना के साथ हल्की से लेकर मध्यम बारिश की संभावना है।
बता दें कि प्रदेश में भारी बारिश के चलते भूस्खलन के कारण 166सड़कें बंद है,मंगलवार को 63 सड़कों को खोला गया था। इस काम में 200 जेसीबी मशीन को लगाया गया था ।लोक निर्माण विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट के मुताबिक मंगलवार को कॉल 72 मार्ग अवरुद्ध हुए जबकि 157 मार्ग 1 दिन पहले से ही अवरुद्ध थे। इस तरह से कोई 229 अवरुद्ध मार्गो में से 63 मार्गों को मंगलवार को खोल दिया गया है इस तरह से कुल 229 अवरुद्ध मार्गो में से 63 मार्गो को मंगलवार को खोल दिया गया है।
वहीं चमोली जिले में रुक-रुक कर हो रही भारी बारिश के कारण मलबा आने से ग्रामीण क्षेत्रों की 40 सड़कें भी बंद पड़ी हैं जिसके कारण ग्रामीणों को आवाजाही करने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पोखरी, नंदानगर, गैरसैण, देवाल,थराली और दसौली ब्लॉक के गांव की अधिकांश सड़कें बंद हैं। वहीं कई निर्माणाधीन सड़के भी क्षतिग्रस्त हो गई हैं। क्षेत्र पंचायत सदस्य सोहन सिंह नेगी का कहना है कि सड़क बंद होने से ग्रामीणों को करीब 8 किलोमीटर की पैदल दूरी तय करनी पड़ रही है। ऐसे में रसोई गैस सिलेंडर भी ग्रामीण अपनी पीठ पर लादकर ले जा रहे हैं वहीं पोखरी क्षेत्र में उड़ा मांडा -रोता सड़क 24 जुलाई से बंद है।

यह भी पढ़े -IND vs WI 3rd T20: भारत बनाम वेस्टइंडीज में भारत ने की शानदार जीत हासिल, इस खिलाड़ी ने अपने नाम किए प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब


नंदा नगर के सुखबीर रौतेला का कहना है कि पिछले कई दिनों से ग्रामीण क्षेत्रों में सड़क के बंद है लेकिन विभागीय अधिकारी सड़कों को खोलने में लापरवाही बरत रहे हैं।इधर आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदकिशोर जोशी का कहना है कि जिले में भारी बारिश से मलबा आने से बंद 40 लड़कों को खोलने का काम जारी है।बार-बार बारिश होने पर सड़कें बंद हो रही है,जिससे अस्वस्थ ग्रामीणों को अस्पताल तक पहुंचने में दिक्कत आ रही है।

Related posts

मुख्य्मंत्री बनने को लेकर Harish Rawat का एक और बयान सामने आया, अब कह डाली ये बात

doonprimenews

शराब के शौकीन हो जाए सावधान शराब खरीदने के चक्कर में युवक को लगा 50 हजार से ऊपर का चूना

doonprimenews

Uttarakhand में यहां होटल में चल रहा sex racket, पुलिस ने छापेमारी की तो मिला ये सब

doonprimenews

Leave a Comment