Doon Prime News
uttarakhand

रिजॉर्ट में कौन था वो VIP जिसको स्पेशल ट्रीटमेंट देने के लिए अंकिता को किया गया था मजबूर, घटना के दिन एक्टिव मोबाइलों की कुंडली निकालेगी एसटीएफ

इस वक़्त की बड़ी खबर अंकिता हत्याकांड से सम्बन्धित है।VIP का पता लगाने में जुटी एसटीएफ, अब घटना के दिन की एक्टिव मोबाइलों की कुंडली निकाल रही है।अंकिता भंडारी की हत्या के दिन घटनास्थल यानी चीला नहर के पास और वनंत्रा रिसॉर्ट में कितने लोग मौजूद थे इस बात की तह तक जाने के लिए की कोशिश कर रही है।एसआइटी की ओर से एसटीएफ की टीम को यहां लगाया गया है। दो दिन से टीम यहां डेरा जमाए हुए है।


बता दें की एक्टिव मोबाइल आइडी को स्कैन करने के दौरान कई मोबाइल नंबर टीम के राडार पर आए हैं। अब इन नंबरों की स्क्रूटनी करने के बाद अंकिता और तीनों आरोपित के अलावा इनके साथ मौजूद शख्स का पता भी लगाया जाएगा। एसआइटी प्रमुख डीआइजी पी रेणुका देवी इस मिशन को पल-पल मॉनिटर कर रही हैं।भाजपा के निष्कासित नेता विनोद आर्या के पुत्र पुलकित आर्या के वनंत्रा रिसॉर्ट समेत चीला नहर के पास जहां अंकिता भंडारी को नहर में हत्या कर फेंका गया था। यह दोनों ही जगह मुख्य रूप से एसटीएफ की सर्विलांस टीम के टारगेट में है।


वहीं बीते शुक्रवार को सर्विलांस एक्सपर्ट की टीम ने वनंत्रा रिसॉर्ट में कई घंटे वहां एक्टिव रहे मोबाइल नंबर को सर्च किया था।अंकिता की हत्या के दिन , उससे पहले और उसके बाद संबंधित क्षेत्र में एक्टिव रहे मोबाइल नंबर को सर्विलांस टीम सर्च कर रही है। शनिवार को टीम का टारगेट नहर का वह इलाका रहा जहां वारदात हुई थी। अंकित भंडारी के हत्यारों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के लिए एसआइटी कोई कसर नहीं छोड़ रही है।

यह भी पढ़े –पंजाबी सिंगर सिद्धू  मूसेवाला की हत्या के बाद अब इस सिंगर पर जानलेवा हमला, गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती।*


एसआइटी हर पहलू को लेकर बड़ी बारीकी के साथ जांच कर रही है और हर सबूत इक्कठे करने में जुटी है। ताकि अंकिता को न्याय दिलाने में मदद मिल सके। इसी कड़ी में शनिवार को एसआइटी शनिवार दोपहर बाद साइबर एक्सपर्ट टीम के साथ घटनास्थल चीला नहर पर पहुंची। वारदात के वक्त एक्टिव मोबाइल आइडी को स्कैन करने की कोशिश की गई।सक्रिय रहे मोबाइल नंबरों को स्कैन करने में सफल रही टीम
साइबर एक्सपर्ट की मदद से एसआइटी यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि हत्या के वक्त क्या घटनास्थल पर चार ही लोग थे या फिर कोई अन्य शख्स वारदात के दौरान इनके साथ था। मिली जानकारी के अनुसार दो दिनों में सर्विलांस टीम यहां सक्रिय रहे मोबाइल नंबरों को स्कैन करने में सफल रही है। अब यह देखा जा रहा है कि जहां अंकिता की हत्या हुई थी और रिसॉर्ट में वारदात के दिन ऐसे कौन से मोबाइल नंबर हैं जो कॉमन हैं।अंकिता हत्याकांड के दिन रिसॉर्ट में वीआइपी मेहमानों के स्पेशल ट्रीटमेंट के लिए अंकिता को मजबूर किए जाने की बात भी इस दौरान सामने आई थी। एसटीएफ की सर्विलांस टीम के एक्सपर्ट यह भी पता लगा रहे हैं कि ऐसे कौन वीआइपी थे जिनके मोबाइल उस दिन यहां एक्टिव पाए गए।

Related posts

गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय के बिड़ला परिसर में छात्रसंघ चुनाव के लिए हुआ मतदान, अध्यक्ष पद के लिए चार प्रत्याशियों में हुई सीधे भिड़ंत

doonprimenews

उत्तराखंड हुआ शर्मशार, यहां अर्द्धनग्न अवस्था में मिला बुजुर्ग महिला का शव

doonprimenews

Weather Update- Uttarakhand में 9 तारीख से फिर बदल सकता है मौसम का मिजाज, फिलहाल 2 दिन तक ऐसा रहेगा मौसम

doonprimenews

Leave a Comment