Doon Prime News
uttarakhand

उत्तराखंड :बुग्यालों में लगातार हो रहा भूस्खलन, 40वर्षों में 700मीटर खिसक चुका पिंडारी ग्लेशियर अब बन रहा चिंता का विषय

विश्व में तापमान की बढ़ोतरी के चलते विश्व प्रसिद्ध पिंडारी ग्लेशियर पिछले 40 वर्षों में करीब 700 मीटर पीछे खिसक चुका है।जी हाँ बता दें की पिंडारी यात्रा मार्ग पर पड़ने वाले बुग्यालों में भी लगातार भूस्खलन हो रहा है। पर्यावरणविदों ने भी इस पर चिंता जाहिर की है। ग्लेशियर का हिमक्षेत्र कम होता जा रहा है, जिसका असर बुग्यालों पर भी देखने को मिल रहा है।


बुग्यालों में बढ़ रहा भूस्खलन दे रहा भविष्य में बड़े खतरे का संकेत
आपको बता दें की पिंडारी ग्लेशियर यात्रा मार्ग में पड़ने वाले बुग्यालों में पिछले कुछ सालों में भूस्खलन बढ़ रहा है। द्वाली में बने लोक निर्माण विभाग और कुमाऊं मंडल विकास निगम के विश्राम गृह के पास भी भूस्खलन हो रहा है। मखमली घास के लिए पहचाने जाने वाले बुग्याल रोखड़ में बदल रहे हैं। ग्लेशियरों के पिघलने और बुग्यालों में बढ़ रहे भूस्खलन भविष्य में किसी बड़े खतरे का संकेत दे रहे हैं।


गैस, बिजली,वाहन ग्लेशियरों को पहुंचा रहे नुकसान
वहीं वॉडिया इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालयन जियोलॉजी, देहरादून से सेवानिवृत्त सीनियर हिम वैज्ञानिक डॉ. डीपी डोभाल का कहना है कि पिंडारी ग्लेशियर भी अन्य ग्लेशियरों की तरह पीछे जा रहा है। मौसम में बदलाव, ग्रीष्म ऋतु का समय बढ़ना, बर्फबारी में कमी भी इसका एक कारण है। पिंडारी ग्लेशियर सीधे पहाड़ पर है, ऐसे में यहां गिरने वाली बर्फ रुकती कम है।

हिमालयन माउंटेनियर्स क्लब के सचिव आलोक साह गंगोला बताते हैं कि गैस, बिजली, वाहन तीन ऐसे कारक हैं, जो ग्लेशियरों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। विकास की दौड़ में ये तीन कारक प्रमुख स्थान रखते हैं तो यही तीन कारक ग्लेशियरों के नुकसान में भी अहम भूमिका निभा रहे हैं।

यह भी पढ़े –Big Breaking- रीवा में हुआ बड़ा सड़क हादसा, बस और ट्राली की टक्कर में 14 लोगों की हुई मौत, दिवाली मनाने के लिए घर लौट रहे थे सभी लोगों*


बढ़ता भूस्खलन है चिंता का विषय :डीएफओ, बागेश्वर
बता दें की डीएफओ बागेश्वर,हिमांशु बागरी का कहना है की पिंडारी ग्लेशियर यात्रा मार्ग में बुग्यालों में बढ़ रहा भूस्खलन चिंताजनक है। वन विभाग की टीम के साथ क्षेत्र का मुआयना कर रिपोर्ट तैयार की है। रिपोर्ट के आधार पर बुग्याल संरक्षण का प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा जाएगा।

Related posts

UKSSSC Paper Leak मामले में ED ने ली एंट्री, अब आरोपियों की बजेगी बैंड

doonprimenews

बद्रीनाथ धाम में कपाट बंदी के लिए हुई सजावट में लगे कमल के फूल बने आकर्षण का केंद्र, जाने क्यों हो रही जमकर चर्चा

doonprimenews

यहाँ गन्ने के खेत से मिला 12 फीट लंबा अजगर , लोगो में मचा हडकंप

doonprimenews

Leave a Comment