Doon Prime News
uttarakhand

अंकिता हत्याकांड मामले में वनंत्रा के एक कर्मचारी ने किया खुलासा, हत्याकांड के दिन ‘हेल्प मी……. मुझे यहां से जाना है, चिल्ला रही थी अंकिता

अंकिता

बड़ी खबर अंकिता हत्याकांड से संबंधित है। जी हां बता दें कि अंकिता हत्याकांड में अब एक के बाद एक बड़े और नए खुलासे होते जा रहे हैं। 18 सितंबर को हुए इस हत्याकांड के दिन पुलकित आर्य और अंकित गुप्ता ने अंकिता के साथ मारपीट की थी। अंकिता बार-बार हेल्प मी, हेल्प मी, मुझे यहां से बाहर निकालो,मुझे यहां से जाना है चिल्ला रही थी। पुलकित आर्य और अंकित 4 वीआईपी मेहमानों को अतिरिक्त सेवा देने के लिए उस पर दबाव बना रहे थे।

आपको बता दें कि इन सब बातों का खुलासा वनंत्रा रिसॉर्ट में काम करने वाले उत्तर प्रदेश के बिजनौर निवासी एक कर्मचारी ने किया है। कर्मचारी ने बताया कि 18 सितंबर को वह रिकॉर्ड की पहली मंजिल पर मेहमानों का सामान रखने वाले कमरे में था अचानक उसे किसी के चिल्लाने की आवाज सुनाई दी थी। बताया कि जब उसने और एक अन्य कर्मचारी ने नीचे देखा तो अंकिता के चिल्लाने की आवाज आ रही थी अंकिता हेल्प मी,हेल्प मी,मुझे यहां से बाहर निकालो,मुझे यहां से जाना है कह रही थी।

बता दें कि कर्मचारी ने यह भी बताया कि लेकिन जब आवाज आ रही थी उसी दौरान पुलकित या अंकित में से कोई बाहर आया और अंकिता का मुंह दबाकर उसको कमरे में ले गया था। इस दौरान मजबूत कद काठी के युवक बाहर खड़े थे। कर्मचारी ने बताया कि इस बीच का सामान लेने के लिए अकेला बाहर आ गया बाहर एक काली रंग की लग्जरी गाड़ी भी खड़ी थी। कर्मचारी ने इस बात का भी खुलासा किया कि पुलकित आर्य के निजी सहायक अंकित गुप्ता से मिलने के बाद चारों युवक काली कार से वापस लौट गए। और यह वही चार युवक थे जिन को अतिरिक्त सेवा देने के लिए अंकिता पर दबाव बनाया जा रहा था। कर्मचारी ने बताया कि इससे पहले भी पुलकित ने अंकिता के साथ शराब के नशे में छेड़छाड़ की थी।

यह भी पढ़े -उत्तराखंड के जिला रुद्रपुर में पति ने पत्नी को गोबर दलदल में डूबाकर दर्दनाक कर दी हत्या ।


वहीं सूत्रों के अनुसार एसआईटी ने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज और सर्विलांस टीम की मदद से चारों वीआईपी मेहमान की पहचान कर ली है एसआईटी जल्द ही चारों लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में ले सकती है। बता दें कि 18 सितंबर की देर रात अंकिता की हत्या कर दी गई थी। आरोप में रिजॉर्ट मालिक पुलकित, मैनेजर सौरभ और अंकित को पुलिस ने 23 अक्टूबर को गिरफ्तार किया था इसके बाद अब पुलिस ने तीनों की रिमांड भी ले ली है। अब पुलिस आरोपियों के साथ पूरा घटनाक्रम फ्री क्रिएट करने की तैयारी कर रही है।

Related posts

लम्बे समय से चल रहे NIOS-D.El. Ed के केस में सुनवाई फिर टली,डेट आगे बढ़ाई गई

doonprimenews

उत्तराखंड क़ो केंद्र ने दी बड़ी सौगात, 2,006.82 करोड़ का बजट किया मंजूर, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रधानमंत्री मोदी और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का किया धन्यवाद

doonprimenews

उत्तराखंड में नहीं थम रहे कोरोना संक्रमण के मामले, यहाँ हुए 8बच्चे और 1अध्यापक कोरोना का शिकार

doonprimenews

Leave a Comment