Doon Prime News
haridwar

हरिद्वार में जंगल से सटे गांवों में हाथी का आतंक, धान की फसल रौंदी

हरिद्वार में जंगल से सटे गांवों में हाथी का आतंक, धान की फसल रौंदी

हरिद्वार: वन से सटे गांवों में जंगली जानवरों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है. रोजाना जंगलों से निकलकर हाथी किसानों की तैयार फसल को नुकसान पहुंचा रहे हैं. बीती रात जनपद के बिशनपुर, कटारपुर और रानीमाजरा गांवों में हाथी ने जमकर उत्पात मचाया. मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने ग्रामीणों की मदद से बमुश्किल हाथी को जंगल की तरफ खदेड़ा.

दरअसल, हरिद्वार के कई गांव जंगल से सटे होने के कारण वन्यजीवों से प्रभावित हैं. इस समय गन्ने और धान की तैयार फसल के कारण जंगली हाथी आबादी वाले क्षेत्रों का रुख कर रहे हैं. डीएफओ हरिद्वार नीरज शर्मा ने बताया कि हाथियों को आबादी क्षेत्र में आने से रोकने के लिए वन विभाग की 16 से 17 टीमें लगी रहती हैं, जिसमें 6 से 7 लोग होते हैं.

यह भी पढ़े – सितंबर महा में कोयले से चलने वाली बिजली उत्पादन में आई गिरावट, वही अक्षय ऊर्जा प्रोडक्शन मे हुई बढ़ोतरी।

डीएफओ के मुताबिक कुछ दशक पहले से इस क्षेत्र में हाथियों का आवागमन होता रहा है. वर्तमान में हाथियों के आवागमन पर काफी हद तक रोक लगा दी गई है. हाथी आबादी क्षेत्रों व खेतों में ना आएं इसके लिए और उचित तैयारियां की जाएंगी. किसानों से भी संवाद कर हाथी को रोकने के लिए विचार-विमर्श किया जाता है.

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए  यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें. व्हाट्सएप ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें,

Share this story

Related posts

मंडी समिति के बाहर चार दुकानों में लगी आग, कड़ी मशक्कत के बाद अग्निशमन विभाग ने पाया आग पर काबू।

doonprimenews

हरिद्वार में 48वीं राष्ट्रीय जूनियर कबड्डी चैंपियनशिप 2022 का मुख्यमंत्री ने किया शुभारम्भ,प्रतियोगिता में 30राज्यों की टीमें हैं शामिल

doonprimenews

खेल मंत्री अरविंद पांडे ने वंदना कटारिया राष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम का किया उद्घाटन

doonprimenews

Leave a Comment