Doon Prime News
dehradun

अंकिता भंडारी हत्याकांड केस में भाजपा के नेता विनोद आर्य ने अपने बेटे पुलकित आर्य पर लगे सभी आरोपों को खारिज करते हुए कही ये बड़ी बात .

अंकिता भंडारी

भाजपा नेता विनोद आर्य ने दिया बड़ा बयान उन्होंने कहा कि उनका बेटा सीधा सदा बालक हैं। उन्होंने बेटे पुलकित आर्य पर लगे सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि वह इस तरह के काम नहीं कर सकता है।

उत्तराखंड के चर्चित अंकिता हत्याकांड के मुख्य आरोपी पुलकित आर्या को एक बार फिर उसके पिता विनोद आर्य ने बचाने की कोशिश। पूर्व भाजपा के नेता विनोद आर्य ने कहा कि उनका बेटा सीधा सादा बालक है उन्होंने अपने बेटे पर लगे सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि वह इस तरह की हरकत नहीं कर सकता उसे केवल अपने काम से मतलब होता था लेकिन बेवजह इस मामले में फंसाया जा रहा है उन्होंने कहा कि वह अपने बेटे को न्याय दिलाने के लिए लड़ेंगे। लेकिन साथ ही वह मृत युवती के लिए भी न्याय चाहते हैं। इस मौके पर उन्होंने कहा कि भाजपा ने उन्हें नहीं निकाला बल्कि उन्होंने खुद इस प्रकरण के बाद पार्टी से इस्तीफा दे दिया है।

आपको बता दें कि भाजपा नेता उत्तराखंड के पूर्व राज्यमंत्री विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्या के रिसोर्ट में मृत युवती अंकिता रिसेप्शनिस्ट की नौकरी करती थी। आरोप है कि पुलकित आर्य और उसके साथियों ने जबरन अनैतिक गतिविधियों में ढकेलने का प्रयास किया। वहीं जब अंकिता ने इसका विरोध किया तो आरोपियों ने उसकी हत्या कर दी। वारदात के बाद उसका शव गहरे पानी में फेंक दिया था। मामले का खुलासा होने के बाद पुलिस ने इस वारदात के मुख्य आरोपी पुलकित आर्य के अलावा उसके रिसोर्ट के प्रबंधक सौरभ और दोस्त अंकित को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं प्रशासन ने अवैध निर्माण का मामला सामने आने पर रिजॉर्ट पर बुलडोजर चलवा दिया।

यह भी पढ़े – रविचंद्रन अश्विन ट्विटर पर हुए ट्रेंड तो हो गए गुस्सा, बोले – अरे आप अश्विन को क्यों ट्रेंड करा रहे हो? आज रात तो…………… जाने क्या है पूरा मामला

खुद इस्तीफ़ा देने का दावा किया
पूर्व भाजपा नेता विनोद ने इस प्रकरण के बाद खुद पार्टी से इस्तीफा देने का दावा किया है। उन्होंने कहा कि उनके साथ उनके बड़े बेटे अंकित आर्य ने भी इस्तीफा दे दिया है, जबकि भाजपा के प्रदेश महामंत्री ने इन दोनों को पार्टी से बर्खास्त करने की बात से संबंधित पत्र को सोशल मीडिया पर शेयर किया था। इसी के साथ मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी साफ कर दिया था कि अपराधी और अपराधियों से संबंध रखने वालों की भाजपा में कोई जरूरत नहीं है।

तीनों आरोपी कबूल कर चूके हैं अपना जुर्म।
पुलिस ने अंकिता के चैट और उसके सोशल मीडिया के दोस्त का बयान दर्ज कराने के बाद तीनों आरोपियों से गहन पूछ्ताछ की थी। शुरू में तो आरोपियों ने पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस के सख्ती बर्ताव के कारण तीनों आरोपियों से वारदात को कबूल करते हुए इसमें अपनी अपनी भूमिका पुलिस को बता दी इसमें पुलिस को यह भी बताया कि वह अंकिता से स्पेशल सर्विस लेना चाहते थे, लेकिन वह इसका लगातार विरोध कर रही थीं। बल्कि इस बात को बहार जा़हिर भी करने वाली थी।

एसआईटी दाखिल करेगी चार्जशीट
उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि इस वारदात की जांच के लिए आईडीजी रेणुका देवी की देखरेख में एसआईटी का गठन किया गया। उन्हें जल्द से जल्द विवेचना पूरी कर अदालत में चार्जशीट पेश करने के लिए भी कहा गया है। पुलिस इस मामले में जल्द से जल्द आरोपियों को सजा कराने की कोशिश करेंगी। उन्होंने बताया कि खुद मुख्यमंत्री ने मामले की जांच के लिए एसआईटी बनाने के निर्देश दिए थे।

Related posts

देहरादून: चिकित्सालय कोरोनेशन अस्पताल के फ्लश टैंक से मिला एक नवजात का शव ।

doonprimenews

देहरादून में किराएदार के साथ दुष्कर्म का आरोप, मुकदमा दर्ज होते ही आरोपी हुआ फरार

doonprimenews

Dehradun : पहले व्यक्ति को दिया उधार, फिर उसकी पत्नी संग बनाए नाजायज संबंध, जब मना किया तो करदी हत्या

doonprimenews

Leave a Comment