Doon Prime News
uttarakhand

यूकेएसएससी पेपर लीक मामले में चल रही जांच के बीच युवाओं के लिए मुख्यमंत्री धामी ने सुनाई खुशखबरी, जल्द 19000 पदों पर भर्ती प्रक्रिया होगी शुरू

इस वक्त की बड़ी खबर उत्तराखंड सरकार से आ रही है। एक ओर जहां उत्तराखंड में यूकेएसएससी पेपर लीक मामले में एक के बाद एक नए खुलासे होते जा रहे हैं और गिरफ्तारियां हो रही है। तो वहीं दूसरी ओर युवाओं के लिए खुशखबरी की खबर आई है। जी हां बता दे कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने 7000 नए पदों पर भर्ती का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखंड में जल्द ही 7000 पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू होने वाली है।

आपको बता दें कि उत्तराखंड के सरकारी विभागों में खाली पदों पर तेजी से भर्ती अभियान शुरु किया गया है। मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि सात हजार पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। 12 हजार पदों पर भी जल्द परीक्षा शुरू कराई जाएगी। सरकार की इस समय प्राथमिकता यही है कि भर्ती परीक्षाएं समय पर संपन्न कराई जाए। यूके एसएससी पेपर लीक मामले में जहां गड़बड़ियां होने के कारण भर्तियां निरस्त भी हुई है, ऐसे में 7000 पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू होना और उसके बाद 12000 पदों पर ऐसे में 7000 पदों पर भर्ती युवाओं के लिए किसी खुशखबरी से कम नहीं है।

वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री धामी ने हिंदुस्तान से बातचीत में कहा कि युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वालों पर इस तरीके से कड़ी कार्रवाई की जा रही है ताकि कोई भविष्य में इस तरह की हरकत दोबारा ना दोहरा सके।मुख्यमंत्री धामी ने कहा की अंतिम दोषी को पकड़ने तक जांच जारी रहेगी। इसके लिए सरकार भर्तियों को लेकर बेहद पारदर्शी सिस्टम तैयार कर रही है। भर्ती का जिम्मा लोक सेवा आयोग को दे दिया गया है। समय पर सभी परीक्षाएं पूरी हो सकें, इसके लिए आयोग को मजबूत किया जा रहा है। कर्मचारियों की संख्या बढ़ाई जा रही है। सरकार की प्राथमिकता है कि दिसंबर तक हर हाल में परीक्षा पूरी हो जाएं। इसके लिए जल्द परीक्षा कैलेंडर जारी हो रहा है। अक्तूबर में विज्ञप्ति जारी हो जाएगी।

यह भी पढ़े –दिल्ली पुलिस की कड़ी कार्रवाई, एक बार फिर तिहाड़ के अधिकारियों पर FIR दर्ज, जानिए क्या है पूरा मामला।*

बता दें कि धामी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि विपक्ष के पास कुछ कहने के लिए नहीं है इसलिए विपक्ष छात्रों को आगे कर रहा है। सरकार की मंशा साफ है और फिलहाल हम इसी बात को प्राथमिकता देंगे कि परीक्षाएं सही समय पर हो।विपक्ष उसी सीबीआई से जांच कराने की मांग कर रहा है, जिसके खिलाफ वो सबसे अधिक हल्ला मचाता है। अब वही सीबीआई विपक्ष की प्यारी हो गई है। सरकार जरूरत पड़ने पर सीबीआई क्या, किसी भी संस्था से जांच कराने को तैयार है।

Related posts

बड़ी खबर- बीजेपी ने जारी किया घोषणापत्र, किसानों से लेकर महिलाओं तो के लिए बढ़े एलान,यहां देखिए मुख्य बातें

doonprimenews

उत्तराखंड पुलिस सिर्फ कांवरियों की नहीं बल्कि बेजुबान जानवरों की भी कर रही है मदद, देखिए वीडियो।

doonprimenews

आग की लपटों से घिरी हुई कार से खुद बाहर निकलकर आए थे ऋषभ पंत, काफी हद तक थे घायल,लड़खड़ाकर हाईवे पर गिरे और तड़पने लगे

doonprimenews

Leave a Comment