Doon Prime News
uttarakhand

उत्तराखंड STF का सराहनीय काम, पिछले 7 दिन में लौटाए लोगों के इतने लाख रुपए

वर्तमान में साइबर अपराधी आम जनता की गाढ़ी कमाई हड़पने हेतु अपराध के नये-नये तरीके अपनाकर धोखाधड़ी कर रहे है । इसी परिपेक्ष्य में ठगों द्वारा विभिन्न आँनलाईन सर्च इंजन पर बैंक/विभिन्न कम्पनियो के कस्टमर केयर नाम से फर्जी मोबाइल नम्बर प्रसारित कर आम जनता से ई-मेल व दूरभाष के माध्यम से सम्पर्क कर ऑनलाईन लोन, सामान बेचने, शिकायतो के निस्तारण आदि के नाम पर करोडो रुपये की धोखाधडी की जा रही है । आपको बता दे की साईबर वित्तीय हेल्पलाईन-1930 (पहले 155260) के द्वारा विगत 07 दिवस में साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन द्वारा तत्काल कार्यवाही कर कुल रु0 7,41,119/- (सात लाख इक्तालीस हजार एक सौ उन्नीस रुपये) की धनराशि साईबर ठगों से बचायी गयी ।
आपको बत्रा दे की राज्य मे बढते हुए साईबर अपराधों के मद्देनजर पीडितों / आम जनमानस की साईबर अपराध सम्बन्धित शिकायतों पर कार्यवाही किये जाने के उद्देश्य से साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन मे साईबर हेल्पलाइन 1930(पहले 155260) संचालित किया जा रहा है। जिसमें साईबर अपराधों से पीड़ित आम जनता द्वारा अपनी शिकायतें दर्ज करायी जा रही है । साईबर क्राईम थाने की टीम द्वारा मिशन ई-सुरक्षा चक्र के तहत विगत 07 दिवस में लगभग 7,41,119/- (सात लाख इक्तालीस हजार एक सौ उन्नीस रुपये) की साईबर ठगी की धनराशि पीड़ितो के बैंक खातो में वापस करायी गयी है । साईबर अपराधियों द्वारा आम जनता को नये-नये तरीके से जालसाजी कर यह धनराशि ठगी की गयी थी ।
आइये आपको बताते :
1- साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन पर साईबर हेल्पलाइन के माध्यम से शिकायतकर्ता भुवन राम निवासी चम्पावत के द्वारा साईबर हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज की गयी थी, जिसमें ऑनलाइन एफडी बनाकर अज्ञात व्यक्ति द्वारा धोखाधड़ी कर खाते से रु0 4,01,000 /- (चार लाख एक हजार) रूपये की साईबर ठगी की गयी थी। जिस पर साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन मे तैनात हेड का0 प्रो0 रकम सिंह, का0 नितिन रमोला, नरेश चन्द्र के द्वारा त्वरित कार्यवाही कर सम्बंधित वॉलेट/बैंक के नोडल अधिकारी से सम्पर्क करते हुये रु0 4,01,000 /- (चार लाख एक हजार) की सम्पूर्ण धनराशि वापस करायी गई।

2- साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन पर साईबर हेल्पलाइन के माध्यम से शिकायतकर्ता राजेन्द्र प्रसाद निवासी देहरादून के द्वारा साईबर हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज की गयी थी, जिसमें ऑनलाइन एफडी बनाकर अज्ञात व्यक्ति द्वारा धोखाधड़ी कर खाते से रु0 1,39,000 /- (एक लाख उन्नतालीस हजार) रूपये की साईबर ठगी की गयी थी। जिस पर साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन मे तैनात हेड का0 प्रो0 रकम सिंह, का0 नितिन रमोला, नरेश चन्द्र के द्वारा त्वरित कार्यवाही कर सम्बंधित वॉलेट/बैंक के नोडल अधिकारी से सम्पर्क करते हुये रु0 1,39,000 /- (एक लाख उन्नतालीस हजार) की सम्पूर्ण धनराशि वापस करायी गई।

3- साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन पर साईबर हेल्पलाइन के माध्यम से शिकायतकर्ता विपुल चौहान निवासी उधम सिंह नगर के द्वारा साईबर हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज की गयी थी, जिसमें रिश्तेदार बनकर अकांउट में पैसे डालने के नाम पर लिंक भेज कर UPI के माध्यम से अज्ञात व्यक्ति द्वारा खाते से रु0 2,03880/- (दो लाख तीन हजार आठ सौ अस्सी) रूपये की साईबर ठगी की गयी थी। जिस पर साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन मे तैनात का0 नितिन रमोला के द्वारा त्वरित कार्यवाही कर सम्बंधित वॉलेट/बैंक के नोडल अधिकारी से सम्पर्क करते हुये शिकायतकर्ता की 54,900/- (चौव्वन हजार नौ सौ) रुपये की धनराशि वापस करायी गई ।

4- साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन पर साईबर हेल्पलाइन के माध्यम से शिकायतकर्ता देवेश पन्त निवासी अल्मोड़ा के द्वारा साईबर हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज की गयी थी, जिसमें पंतजलि कस्टमर केयर अधिकारी बनकर पंतजलि में रजिस्ट्रेशन कराने के नाम पर लिंक भेजकर UPI के माध्यम से अज्ञात व्यक्ति द्वारा धोखाधड़ी कर खाते से रु0 30,600/- (तीस हजार छः सौ ) रूपये की साईबर ठगी की गयी थी। जिस पर साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन मे तैनात का0 नितिन रमोला के द्वारा त्वरित कार्यवाही कर सम्बंधित वॉलेट/बैंक के नोडल अधिकारी से सम्पर्क करते हुये शिकायतकर्ता की 30,600/- (तीस हजार छः सौ ) रुपये की सम्पूर्ण धनराशि वापस करायी गई ।

5- साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन पर साईबर हेल्पलाइन के माध्यम से शिकायतकर्ता हीरा सिंह निवासी पिथौरागढ़ के द्वारा साईबर हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज की गयी थी, जिसमें दोस्त बनकर खातें में पैसे डालने के नाम पर ऑनलाइन लिंक भेजकर अज्ञात व्यक्ति द्वारा धोखाधड़ी कर खाते से रु0 30,000 /- (तीस हजार) रूपये की साईबर ठगी की गयी थी। जिस पर साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन मे तैनात हेड का0 प्रो0 रकम सिंह, का0 नितिन रमोला, नरेश चन्द्र के द्वारा त्वरित कार्यवाही कर सम्बंधित वॉलेट/बैंक के नोडल अधिकारी से सम्पर्क करते हुये रु0 30,000/- (तीस हजार) की सम्पूर्ण धनराशि वापस करायी गई।

6- साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन पर साईबर हेल्पलाइन के माध्यम से शिकायतकर्ता सोनू निवासी उधम सिंह नगर के द्वारा साईबर हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज की गयी थी, जिसमें रिश्तेदार बनकर खाते में पैसे डालने के नाम पर UPI  पिन पूछकर UPI के माध्यम से अज्ञात व्यक्ति द्वारा धोखाधड़ी कर खाते से रु0 98,000/- (अठ्ठानवे हजार) रूपये की साईबर ठगी की गयी थी। जिस पर साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन मे तैनात उ0नि0 अनिल चौहान, का0 हरेन्द्र व करूणेश के द्वारा त्वरित कार्यवाही कर सम्बंधित वॉलेट/बैंक के नोडल अधिकारी से सम्पर्क करते हुये शिकायतकर्ता की 50,000/-(पचास हजार) रुपये की धनराशि वापस करायी गई ।

यह भी पढ़े : भीमताल में पर्यटकों की कार खाई में गिरने से 5 घायल, मसूरी हादसे में भी 2 जख्मी

7-साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन पर साईबर हेल्पलाइन के माध्यम से शिकायतकर्ता राखी निवासी उधम सिंह नगर के द्वारा साईबर हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज की गयी थी, जिसमें बैंक का कस्टमर केयर अधिकारी बनकर Anydesk एप्प डाउनलोड कराकर UPI के माध्यम से अज्ञात व्यक्ति द्वारा धोखाधड़ी कर खाते से रु0 44,702/- (चौबालीस हजार सात सौ दो) रूपये की साईबर ठगी की गयी थी। जिस पर साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन मे तैनात का0 नितिन रमोला के द्वारा त्वरित कार्यवाही कर सम्बंधित वॉलेट/बैंक के नोडल अधिकारी से सम्पर्क करते हुये शिकायतकर्ता की 35,619/- (पैंतीस हजार छः सौ उन्नीस) रुपये की धनराशि वापस करायी गई ।

अपील
साईबर वित्तीय हेल्पलाइन 1930(पहले 155260) पर साईबर धोखाधड़ी होने पर तत्काल सूचना अंकित कराये । सूचना विलम्ब से देने पर साईबर अपराधियो द्वारा धन निकालने के उपरान्त पैसा वापस होने की सम्भांवना बहुत कम होती है ।*

प्रभारी एस0टी0एफ0 उत्तराखण्ड द्वारा जनता से अपील की है, कि वे ऑनलाइन सामान की खरीददारी करते हुये अधिकृत वैबसाइट से ही सामान खरीदे व किसी भी प्रकार के लोभ लुभावने अवसरो/ फर्जी साइट/ धनराशि दोगुना करने वाले अंनजान अवसरो के प्रलोभन में न आयें । किसी भी ऑनलाइन ट्रेडिग साइट व लॉटरी एवं ईनाम जीतने के लालच में आकर धनराशि देने तथा अपनी व्यक्तिगत जानकारी व महत्वपूर्ण डाटा शेयर करने से बचना चाहिये । किसी भी प्रकार का ऑनलाईन ट्रेडिग लेने से पूर्व उक्त साइट की पूर्ण जानकारी व स्थानीय बैंक, सम्बन्धित कम्पनी आदि से भलीं भांति इसकी जांच पड़ताल अवश्य करा लें । कोई भी शक होने पर तत्काल निकटतम पुलिस स्टेशन या साइबर हेल्पलाईन 1930 या साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन को सम्पर्क करें ।

Related posts

मुख्यमंत्री धामी ने नौ योजनाओं का किया शिलान्यास,घर का सपना होगा पूरा 2024तक लाभार्थियों को उपलब्ध कराये जायेंगे घर

doonprimenews

100साल का लम्बा सफर हुआ खत्म,अब RIMC में कैडेट के रूप में प्रवेश ले सकेंगी लड़कियां

doonprimenews

ठंडक के साथ शुरू हुआ नया साल,बद्रीनाथ -हेमकुंड साहिब में हुई बर्फबारी तो वहीं ऊधमसिंह नगर और हरिद्वार में जारी किया शीतलहर का ऑरेंज अलर्ट

doonprimenews

Leave a Comment