Doon Prime News
Uncategorized

बयान दिया Kumar Viswas ने फंस गए चुनाव आयोग के अधिकारी, जानिए क्यों

बयान दिया कुमार विश्वास ने फंस गए चुनाव आयोग के अधिकारी, जानिए क्यों

Punjab में चुनाव की तैयारियां जोरों शोरों पर है सभी पार्टी पूरी क्षमता के साथ तैयारियों में जुट गई है ऐसे में कवि कुमार विश्वास (Kumar Viswas) का नाम इन दिनों Punjab की राजनीति में खूब गुंज रहा है। उन्होंने हाल के दिनों में दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (AAP) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के खिलाफ सनसनीखेज आरोप लगाए थे। इस पूरे सियासी विवाद के लपेटे में पंजाब के अतिरिक्त मुख्य चुनाव अधिकारी डीपीएस खरबंदा भी आ गए हैं। अधिकारी ने राजनीतिक दलों और media घरानों को कुमार विश्नवास के बयान का video clip (Kumar Viswas Video Clip) नहीं चलाने के लिए आदेश जारी किया था। जिसे Punjab सीईओ कार्यालय ने घंटों के भीतर ही वापस ले लिया था। Times of India (TOI) की एक report के मुताबिक, चुनाव आयोग की जानकारी के बिना अतिरिक्त सीईओ ने यह order जारी किया था। कथित तौर पर राज्य के सीईओ द्वारा भी इस आदेश को अनुमोदित नहीं किया गया था। चुनाव आयोग ने मामले को गंभीरता से लिया है। पत्र जारी करने वाले अतिरिक्त CEO के खिलाफ कार्रवाई कर सकता है।

आपको बता दें कि यह मामला उस समय सुर्खियों में आया जब PM Modi ने गुरुवार को पंजाब की एक रैली में कुमार विश्वास के बयान का सहारा लेकर अरविंद केजरीवाल ( Arvind Kejriwal) पर खूब हमला किया। आपको बता दें कि प्रधानमंत्री ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, “ये लोग Punjab और देश को तोड़ना चाहते हैं। ये सत्ता पाने के लिए अलगाववादियों से हाथ मिलाने को तैयार हैं। उनका एजेंडा देश के दुश्मनों और पाकिस्तान के एजेंडे से अलग नहीं है।”

AAP से शिकायत मिलने पर जारी किया था आदेश
पंजाब के अतिरिक्त सीईओ खरबंदा ने आप से शिकायत मिलने के बाद यह आदेश जारी किया था। अपने आदेश में उन्होंने कहा कि राज्य स्तरीय मीडिया प्रमाणन और निगरानी समिति (एमसीएमसी) द्वारा कुमार विश्वास के साक्षात्कार का उपयोग करने से राजनीतिक दलों को रोक दिया था। कुमार ने दावा किया था कि kejariwal ने एक बार उन्हें कहा था कि वह या तो Punjab के मुख्यमंत्री बनेंगे या एक स्वतंत्र राष्ट्र (खालिस्तान) के प्रधानमंत्री बनेंगे। पत्र में Punjab के सभी राजनीतिक दलों से यह कहते हुए clip चलाना बंद करने को कहा गया है कि यह आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है।

CEO ने 2 घंटे के भीतर वापस किया आदेश
गुरुवार को TOI से बात करते हुए Punjab के CEO एस करुणा राजू ने कहा कि पत्र को तत्काल प्रभाव से वापस ले लिया गया है। उन्होंने कहा कि किसी भी party को media platforms पर किसी भी सामग्री को प्रसारित करने या चलाने से रोकना चुनाव अधिकारियों का काम नहीं है। उन्होंने कहा, “इस्तेमाल की गई भाषा पूरी तरह से गलत थी। पत्र अनजाने में निकल गया। मैंने इसे दो घंटे के भीतर वापस लेने का आदेश दिया।”

यह भी पढ़े : धूप बनाती है आपकी हड्डियों को मजबूत, जानिए धूप सेंखना क्यों है सेहत के लिए लाभदायक

Media platforms पर AANI को दिए गए कुमार विश्वास के interview के बाद आप के सह-प्रभारी राघव चड्ढा ने आपत्ति जताई थी। आप ने सीईओ के कार्यालय में भी शिकायत दर्ज कराई थी कि कुमार विश्वास ने अन्य पार्टियों के साथ निहित राजनीतिक हितों को अंजाम देने के लिए video प्रकाशित किया था और विभिन्न मीडिया प्लेटफार्मों पर साझा करके congress द्वारा इसका फायदा उठाया जा रहा था।

Related posts

Easy Tips on How to Write Your Inevitable Essay

doonprimenews

ये पोर्नस्टार हुई Mohammed Shami की फैन, बॉलिंग देख कह डाली ये बात, लोगों ने किए मजेदार कमेंट

doonprimenews

उत्तराखंड में यहां एक युवक ने दवाई के धोखे में गटक लिया जहरीला पदार्थ , स्थिति गंभीर

doonprimenews

Leave a Comment