Doon Prime News
National

पंजाब में खुल सकता है तीसरा मोर्चा,सिद्धू ने की 20 मंत्री-विधायकों से मुलाकात

पंजाब में खुल सकता है तीसरा मोर्चा,सिद्धू ने की 20 मंत्री-विधायकों से मुलाकात

पंजाब और कांग्रेस में मतभेद अभी सुलझे नहीं हैं। लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू की सक्रियता से राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज रही है। माना जा रहा है कि जल्द ही सिद्धू को पंजाब और कांग्रेस की कमान मिल जाएगी। रविवार को सिद्धू  ने पटियाला स्थित अपने आवास  में  निकल पड़े हैं। माना जा रहा है कि वह आज भी पार्टी के कुछ नेताओं से मुलाकात कर सकते हैं। उधर, किसान और पंजाब में कांग्रेस के मुद्दों को लेकर राज्यसभा और सांसद प्रताप सिंह बाजवा के नई दिल्ली में  स्थित आवास पर बड़ी बैठक चल रही है।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक शनिवार को सिद्धू ने पंजाब के 30 विधायक और मंत्रियों से मुलाकात की। इससे पहले शनिवार को ही सिद्धू पंचकूला में मौजूदा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सुनील जाखड़ से भी मुलाकात कर चुके हैं। मंत्री-विधायकों के साथ सिद्धू  लंच करते तस्वीरें  के सामने आये है।

प्रताप सिंह बाजवा के आवास पर बड़ी बैठक,और तीसरा मोर्चा खुलने के संकेतउधर, सिद्धू के खिलाफ कैप्टन अमरिंदर सिंह और सुर नरम पड़े हैं। लेकिन शनिवार को कैप्टन ने राज्यसभा सांसद प्रताप सिंह बाजवा से मुलाकात की। इसके बाद रविवार को प्रताप सिंह बाजवा के आवास पर पंजाब के सांसदों की बैठक चल रही है। इसमें  से सभी राज्यसभा और लोकसभा के सांसद शामिल हैं। ऐसे में पंजाबऔर कांग्रेस में अब तीन मोर्चा खुल गए हैं। प्रताप सिंह बाजवा ने कहा कि हमने पंजाब के सभी कांग्रेस सांसदों को किसानों के मुद्दे पर रणनीति बनाने और पार्टी से जुड़े कुछ मसलों पर चर्चा के लिए आमंत्रित किया है। बता दें कि पंजाब कांग्रेस के विवाद को लेकर पहली बार सांसदों की बैठक चल रही है। 

क्या हाईकमान के फैसले से आहत हैं अमरिंदर और बाजवाशनिवार को कैप्टन अमरिंदर सिंह और प्रताप सिंह बाजवा के बीच लगभग डेढ़ घंटे  तक मुलाकात चली। इसके साथ ही  कई सियासी मायने भी निकाले जा रहे हैं। प्रताप बाजवा और कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच मतभेद  जारी हैं। बीते चार साल के दौरान बाजवा कैप्टन के कामकाज पर लगातार उंगली उठाते रहे । लेकिन ताजा सिद्धू प्रकरण पर शनिवार को बाजवा का अचानक से सिसवां फार्म हाउस पहुंचकर कैप्टन से मिलना नए समीकरणों की तरफ इशारा कर रहा है। 

यह भी पढ़े- कम बजट में ले जाएं यह 15000 से कम कीमत वाले स्मार्ट टीवी, जानिए इनके शानदार फीचर्स के बारे में खास जानकारी 

बाजवा बेअदबी के मामले को लेकर सिद्धू के बयान  पर समर्थन करते रहे हैं लेकिन उन्हें बड़ा ओहदा दिए जाने को लेकर उन्होंने कभी अपने पत्ते नहीं खोले। कैप्टन और बाजवा, दोनों दिग्गज नेताओं की ताजा मुलाकात को लेकर माना जा रहा है कि दोनों नेता हाईकमान के एकतरफा फैसले से दुखी हैं और सीनियर नेताओं को प्रदेश की सियासत से अलग-थलग करने की कोशिश रहे हैं। फिलहाल बाजवा ने ताजा घटनाक्रम पर कोई टिप्पणी नहीं की है।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए  यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें. व्हाट्सएप ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें,

Share this story

Related posts

भारतीय सेना और चीन की सेना के बीच हालिया समय में नहीं हुई कोई झड़प

doonprimenews

एक साल पहले ही भक्त कर सकेंगे राम मंदिर के दर्शन, डिजाइन और ड्राइंग हुए फाइनल

doonprimenews

एक और Sarkari Company ला रही है IPO, आपके पास है बड़ा हिस्‍सेदार बनने मौका, कंपनी की नेटवर्थ है 646 करोड़

doonprimenews

Leave a Comment