Doon Prime News
National

देश की अर्थव्यवस्था में आएगा सुधार, होगी करोड़ों की बचत, नई टेक्नोलॉजी के जरिए पटरी पर दौड़ेगी ट्रेन

देश की अर्थव्यवस्था में आएगा सुधार, होगी करोड़ों की बचत, नई टेक्नोलॉजी के जरिए पटरी पर दौड़ेगी ट्रेन

भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian economy) को सही से चलाने और उसे रफ्तार देने में हमेशा से ही भारतीय रेलवे सिस्टम (Indian railway system) का एक काफी बड़ा योगदान रहा है। भारतीय रेल तंत्र भारत में रोजगार के सबसे अधिक मौके उत्पन्न करने का एक महत्वपूर्ण जरिया भी है। जिस कारण से पिछले कुछ सालों से यह देखा जा रहा है कि सरकार रेलवे सिस्टम को सुधारने और इसे अधिक सुविधायुक्त बनाने के लिए कई महत्वपूरण कदम भी उठा रही है। जिसमें कि प्राइवेट ट्रेन चलाना, रेलवे स्टेशनों का प्राइवेटाइजेशन (privatisation) जैसे कुछ कदम काफी अहम साबित हुए हैं।

अपने इन्हीं प्रयासों के तहत भारतीय रेल अब हाइड्रोजन प्रौद्योगिकी (hydrogen technology) पर आधारित ट्रेन चलाने की तैयारी कर रही है। अपने इस नए प्रोग्राम को सफल बनाने के उद्देश्य से रेलवे ने अलग-अलग निवेशकों को इस प्रोजेक्ट पर बोली लगाने के लिए आमंत्रित भी किया है। भारतीय रेलवे उत्तर रेलवे के तहत आने वाले 89 किलोमीटर लंबे सोनीपत-जींद मार्ग पर digital electric multiple unit (DEMU) पर retrofitting technique के जरिए हाइड्रोजन ईंधन आधारित सेल का इस्तेमाल करने की योजना बना रही है। अपनी इस योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए रेलवे ने अलग अलग निवेशकों से बोलियों को आमंत्रित किया है। इस नई टेक्नॉलॉजी के जरिए भारतीय रेल यह जानने का प्रयास करेगी कि क्या मौजूदा डीजल इंजन से चलने वाली ट्रेनों को हाइड्रोजन ईंधन (hydrogen fuel) का इस्तेमाल करने के लिए रेट्रोफिट किया जा सकता है या नहीं?

यह भी पढ़े-  खुशखबरी: भारत में कोरोना की सिंगल डोज वाली इस वैक्सीन को मिली मंजूरी,जानिए कौनसी है यह वैक्सीन और क्या है इसकी खासियत

एक बयान जारी करते हुए रेलवे ने कहा है कि “डीजल इंजन से चलने वाले digital electric multiple unit (DEMU)की retrofitting कर इसे हाइड्रोजन ईंधन (hydrogen fuel) से चलने वाले ट्रेन सेट में बदलने से ना केवल 2.3 करोड़ रुपये की बचत की जा सकेगी, बल्कि हर साल 11.12 किलो टन कार्बन उत्सर्जन को भी कम किया जा सकेगा”।

रेलवे के अनुसार इस पायलट प्रोजेक्ट के सफल होने के बाद विद्युतीकरण के जरिए डीजल ईंधन से चलने वाले सभी स्टॉक को हाइड्रोजन इंधन (hydrogen fuel) के द्वारा चलाए जाने की योजना पर काम शुरु किया जा सकता है। रेलवे के इस प्रोजेक्ट में बोली लगाने के लिए निविदा दाखिल करने की समय सीमा 21 सितंबर 2021 से 5 अक्टूबर 2021 तक की है।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए  यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें. व्हाट्सएप ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें,

Share this story

Related posts

उत्तराखंड चुनाव से पहले पुलिस की बड़ी कार्रवाई यहां मिले 70 लाख से अधिक के शराब

doonprimenews

पानीपत में रिफाइनरी में हुआ धमाका,चार लोगों की हालत गंभीर,पढ़िए पूरी खबर

doonprimenews

HC में सांसदों और विधायकों पर दर्ज मुकदमों की जानकारी नहीं दे पाई सरकार, मांगा समय

doonprimenews

Leave a Comment