Doon Prime News
nation

उत्तराखंड कैडर के IPS अधिकारी Nilesh Anand भरणे को PM Modi ने PHD  Award से किया सम्मानित।

Nilesh Anand

उत्तराखंड से बहुत बड़ी खबर सामने आ रही है जहां खबर के अनुसार बताया जा रहा है कि आज PM Narendra Modi द्वारा  अहमदाबाद गुजरात में राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय का भवन राष्ट्र को संपर्क किया गया। बता दें कि जहां पर इस अवसर के मौके पर उन्होंने विश्वविद्यालय के प्रथम दीक्षांत समारोह में छात्रों को degree  भी प्रदान की।

बता दे की PM  द्वारा  कुमाऊं रेंज के DIG Nilesh Anand  भरणे को PHD  Award  से सम्मानित किया। उन्हें यह Award स्टडी ऑफ लाइ डिटेक्शन टेक्निक्स इन क्राइम cases विषय पर शोध के लिए दिया गया। वहीं इस अवसर पर केंद्रीय गृह मंत्री Amit  Shah , गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत और गुजरात के CM Bhupendra Patel उपस्थित  रहे।

वही, आपको बता दें कि Nilesh Anand भरणे 2005 बैच के उत्तराखंड कैडर के IPS  अधिकारी हैं। बता दे की ये फॉरेंसिक साइकोलॉजी में PHD करने वाले देश के पहले IPS अधिकारी हैं। वहीं इनके द्वारा नागपुर University  से साइकोलॉजी काउंसलिंग में डिप्लोमा और साइकोलॉजी में MA  एमफिल भी किया गया है।

वही बता दें कि एक तरफ DGP Ashok Kumar द्वारा इस उपलब्धि के लिए Nilesh Anand भरणे को बधाई दी गई है। साथ ही उन्होंने कहा कि उनके इस शोध का उपयोग पुलिसिंग के कार्यों में किया जाएगा। तो वहीं इस अवसर पर PM Narendra Modi द्वारा पुलिस और सुरक्षाकर्मियों की छवि बदलने की जरूरत पर बल दिया गया। उन्होंने करोनक Corona  महामारी के समय पुलिस द्वारा किए गए मानवीय कार्यों के बारे में भी चर्चाएं की। साथ ही उन्होंने कहा कि, स्वतंत्रता के बाद देश की सुरक्षा तंत्र में सुधार की जरूरत थी। एक धारणा विकसित की गई थी कि हमें वर्दीधारी कर्मियों से सावधान रहना होगा लेकिन अब यह बदल गया है जब लोग अब वर्दीधारी कर्मियों को देखते हैं तो उन्हें मदद का आश्वासन मिलता है।

यह भी पढ़े- धारचूला से Congress विधायक Harish Dhami को मिली जान से मारने की धमकी।

बता दे की उन्होंने पुलिसकर्मियों के लिए नौकरी के तनाव से निपटने में संयुक्त परिवार के घटते समर्थन के बारे में भी चर्चाएं की। वही, उन्होंने बलों में योग विशेषज्ञों के साथ-साथ तनाव से निपटने के लिए विशेषज्ञों और विश्राम की आवश्यकता पर भी जोर दिया।

राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय की स्थापना पुलिस, अपराध संबंधी न्याय और सुधारात्मक प्रशासन के विभिन्न अंगों में उच्च गुणवत्ता वाले प्रशिक्षित मानव शक्ति की आवश्यकता को पूरा करने के लिए कि गई थी। बता दें कि रक्षा शक्ति विश्वविद्यालय को अपग्रेड करके राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय नाम से एक राष्ट्रीय पुलिस विश्वविद्यालय की वर्ष 2010 में स्थापना की गई। बता दे की यह विश्वविद्यालय राष्ट्रीय महत्व का संस्थान है। October 2020 से इसका संचालन शुरू किया गया। यह विश्वविद्यालय उद्योग से ज्ञान और संसाधनों का लाभ उठाकर निजी क्षेत्र के साथ तालमेल विकसित करेगा तथा पुलिस एवं सुरक्षा से संबंधित विचित्र में उत्कृष्टता केंद्र भी स्थापित करेगा।

राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय पुलिस विज्ञान और प्रबंधन, अपराधिक कानून और न्याय, Cyber मनोविज्ञान, सूचना प्रौद्योगिकी, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और Cyber सुरक्षा, अपराध जांच, रणनीतिक भाषाओं, आंतरिक रक्षा और रणनीति, शारीरिक शिक्षा और खेल, तटीय और समुद्री सुरक्षा जैसे पुलिस और आंतरिक सुरक्षा के विभिन्न क्षेत्रों में डिप्लोमा से डॉक्टरेट स्तर तक शैक्षणिक पाठ्यक्रम प्रस्तुत करता है। वर्तमान में इन कार्यक्रमों में 18 राज्यों के 822 छात्र नामांकित हैं।

Related posts

अभी नही मिलेगी महंगाई से राहत, आरबीआई गवर्नर ने कही ये बात, बताया कब से कम होगी महंगाई

doonprimenews

भारतीय मौसम विभाग का अलर्ट, देश के 15 राज्यों में अगले 4 दिन तक भारी बारिश की संभावना

doonprimenews

दो छात्रों द्वारा किताब के बहाने घर में घुसकर दुष्कर्म को दिया गया अंजाम।

doonprimenews

Leave a Comment