Doon Prime News
nation

Bangladesh में हिंदू फिर निशाने पर, iscon मंदिर पर 200 से जायदा लोगो ने किया हमला।पढ़िए पूरी ख़बर

Bangladesh से बहुत बड़ी खबर सामने आ रही है। जहां खबर के मुताबिक बताया जा रहा है की Bangladesh में एक बार हिंदू धार्मिक स्थल को निशाना बनाया गया है। बता दे की यहां एक बार फिर से इस्कॉन मंदिर पर हमला हुआ है। सूचना के मुताबिक बताया जा रहा है की गुरुवार रात ढाका के इस्कॉन राधाकांत मंदिर पर चरमपंथियों द्वारा हमला किया गया। मंदिर पर हमले के साथ ही उसमें तोड़फोड़ भी की गई। इस समय मंदिर में लोगों से मारपीट की भी खबर भी सामने आई है। हमले को लेकर इस्कॉन कोलकाता के उपाध्यक्ष राधारमण दास द्वारा कहा गया कि ये हमला गंभीर चिंता का विषय बना हुआ हैं। हम Bangladesh सरकार से सख्त कार्रवाई करने और देश में हिंदू अल्पसंख्यकों को सुरक्षा प्रदान करने का अनुरोध करते हैं।

Media Report के मुताबिक बताया गया की यह हमला Lal Mohan साहा स्ट्रीट स्थित मंदिर पर हुआ। बता दे की गुरुवार की शाम करीब 7 बजे 200 से ज्यादा लोगों द्वारा मंदिर में जबरन घुसकर तोड़फोड़ की गई। बताया जा रहा है कि इस भीड़ की अगुवाई हाजी सैफुल्लाह द्वारा की गई। तोड़फोड़ के साथ ही मंदिर में लूटपाट की भी खबर भी सामने आई। साथ ही मंदिर में मौजूद लोगों से मारपीट भी की गई। हालांकि इस समय कई लोग घायल भी हो गए।

बता दे की Bangladesh में यह पहली बार नहीं है जब चरमपंथियों द्वारा हिंदू अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया गया है। हालांकि इससे पहले भी पिछले साल नवरात्रि के समय दुर्गा पूजा पंडालों पर भी हमले किए गए। साथ ही चरमपंथियों द्वारा कई मंदिरों पर भी हमले किए गए थे। उस समय भी इस्कॉन मंदिर को भी निशाना बनाया गया था। इन हिंसा की वारदातों में 2 हिंदुओं के साथ साथ 7 लोगों की जान भी चली गई थी।

यह भी पढ़े- ऐसे कैसे महिलाएं होंगी सुरक्षित! उत्तराखंड में दो महीने में दुष्कर्म के इतने मामले आए सामने

वही, बताया जा रहा है की Bangladesh में पिछले साल भी 50 से अधिक हिंदू घरों पर हमला किया गया था। साथ ही चार मंदिरों में तोड़फोड़ भी की गई थी। खुलना जिले में हुई Gm शर्मनाक घटना में कई देवी-देवताओं की मूर्तियों को नुकसान पहुंचाया गया था। इस हमले में कट्टरपंथी संगठन हिफाजत-ए-इस्‍लाम का नाम आया था। इस कट्टरपंथी संगठन के तार सीधे पाकिस्‍तान और उसकी खुफिया एजेंसी ISI से जुड़े हुए थे। उस दौरान हिंदू एक धार्मिक जुलूस निकालना चाहते थे। जिसका सिआली गांव की एक मस्जिद के मौलवी द्वारा विरोध किया गया था।

Related posts

गढ़वाल :वीर चंद्र सिंह की पुर्णतिथि पर उत्तराखंड आएंगे रक्षामंत्री,कैबिनेट मंत्री ने दिये निमंत्रण पत्र

doonprimenews

बड़ी खबर- यहां कपड़ों के Showroom में लगी भीषण आग, सब कुछ जलकर हुआ भस्म।

doonprimenews

Pan card से Aadhaar card को नही करवाया लिंक तो देना होगा इतना जुर्माना

doonprimenews

Leave a Comment