Doon Prime News
nation

Single use plastic ban होने के बाद ये 19 चीजें भूलकर भी न रखें अपने पास, लग सकता है लाखों का जुर्माना

Single Use Plastic

देशभर में आज से Single Use Plastic पर Ban लग रहा है। बता दे की इसके तहत Plastic से बनी कई सारी चीजें मिलनी बंद हो जाएंगी। वही, जिसमे रोजमर्रा की जिंदगी में इस्तेमाल होने वाली कई चीजें भी शामिल हैं, जो की अब नहीं दिखेंगी। दरअसल, केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय द्वारा उन सामानों की List जारी की गई है, जिनपर रोक लग रही है।

Single Use Plastic यानी Plastic से बनी ऐसी चीजें, जिसका Use हम सिर्फ एक बार ही कर सकते हैं या फिर इस्तेमाल कर फेंक देते हैं और जिससे पर्यावरण को काफी नुकसान पहुंचता है।

Single Use Plastic की इन चीजों पर लगा Ban

1- Plastic कैरी बैग, पॉलीथीन (75 माइक्रोन से कम मोटाई वाले)
2- Plastic स्टिक वाले ईयर बड्स 
3- गुब्बारों के लिए प्लास्टिक स्टिक 
4- Plastic के झंडे 
5- कैंडी स्टिक, आइसक्रीम स्टिक
6- थर्माकोल (पॉलिस्ट्रीन)
7- Plastic की प्लेट
8- Plastic के कप
9- Plastic के गिलास, कांटे, चम्मच, चाकू, स्ट्रॉ, ट्रे।
10- मिठाई के डिब्बों को रैप या पैक करने वाली फिल्म
11- इन्विटेशन कार्ड
12- सिगरेट के पैकेट
13- 100 माइक्रोन से कम के प्लास्टिक या पीवीसी बैनर
14- स्टिरर (चीनी आदि मिलाने वाली चीज)

वही, जिस पर मंत्रालय की तरफ से साफ बता दिया गया है कि अगर Single Use Plastic कोई इस्तेमाल करता पाया गया तो उसको दंड मिलेगा। जिसमे Jail और जुर्माना दोनों शामिल हैं। बताया गया है कि Single Use Plastic के इस्तेमाल पर पर्यावरण संरक्षण अधिनियम (EPA) के Section 15 के तहत Action होगा।

प्रदेश सरकारें इस बात पर कड़ी नजर रखेंगी कि सिंगल यूज प्लास्टिक (SUP) को कहीं पर अवैध रूप से बनाया, इंपोर्ट, जमा, बेचा या इस्तेमाल तो नहीं किया जा रहा फिलहाल FMCG सेक्टर को इस बैन से छूट मिली है। लेकिन पैकिंग के लिए इस्तेमाल Plastic पर्यावरण के हिसाब से ठीक है, इसका ध्यान रखना होगा।

यह भी पढ़े- यहां बीच सड़क पर आपस में भिड़े सिख यात्री और स्थानीय लोग, जमकर चले लात घुसे

हर व्यक्ति हर साल 18 Gram Single Use Plastic कचरा पैदा कर रहा

भारत की बात करें तो केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का एक सर्वे बताता है कि देश में हर दिन 26 हजार टन Plastic कचरा निकलता है, जिसमें से सिर्फ 60% को ही इकट्ठा किया जाता है। बाकी कचरा नदी-नालों में मिल जाता है या पड़ा रहता है। Central Pollution Control Board के मुताबिक, भारत में हर साल 2.4 लाख टन सिंगल यूज प्लास्टिक पैदा होता है। इस हिसाब से हर व्यक्ति हर साल 18 Gram Single Use Plastic कचरा पैदा करता है।

Related posts

दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करें सोनिया गांधी,बोले आनंद शर्मा,पढ़िए पूरी खबर।

doonprimenews

अब राशन की दुकान पर बुक कर सकते हैं अपने ट्रेन की टिकट, मिलेगी और अन्य सेवाएं जानने के लिए पढ़िए पूरी खबर

doonprimenews

यहां DAV स्कूल के बस ने स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम से वापस लौट रही एक बच्ची को बड़ी बुरी तरीका से कुचला

doonprimenews

Leave a Comment