Doon Prime News
nation

अमरावती में उमेश कोल्हे की हत्या के बाद पुलिस सख्त,प्रेस नोट जारी कर कही ये बात

अमरावती में नूपुर शर्मा के समर्थन में एक पोस्ट डालने पर एक व्यक्ति की कुछ लोगों ने मार -मारकर बेरहमी से हत्या कर दी।व्यक्ति का नाम उमेश कोल्हे बताया जा रहा है।उमेश के साथ हुई घटना के बाद अब अमरावती पुलिस ने सख़्ती दिखाई है और सख्ती दिखाते हुए नूपुर शर्मा के समर्थन में जाने पर यदि आपको कोई धमकी देता है तो शिकायत दर्ज़ करवाने की बात कही है।
आपको बता दें की पुलिस ने एक प्रेस नोट जारी किया है जिसमें यह लिखा गया है किसी भी व्यक्ति ने नूपुर शर्मा के समर्थन में यदि व्हाट्सएप और सोशल मीडिया पर कोई भी कमेंट किया है या फिर स्टेटस लगाया है और अब उन्हें धमकी मिल रही है तो वे लोग आगे आए और पुलिस में शिकायत दर्ज करवाएं ताकि पुलिस धमकी देने वालों के खिलाफ कार्रवाई कर सके। साथ ही पुलिस द्वारा कुछ pमोबाइल नंबर भी जारी किए गए हैं जिनमें लोग कॉल करके अपनी शिकायत दर्ज़ करवा सकते हैं।
पुलिस ने यह कदम इसलिए उठाया है क्योंकि उमेश अरे अभी नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट डाली गई थी, जिसके बाद ही उन्हें जान से मार दिया गया। उमेश की हत्या के बाद कुछ मामले ऐसे भी आए हैं जिनमें लोगों ने उन्हें धमकी मिलने की बात कही है ऐसे लोगों की सुरक्षा को देखते हुए पुलिस ने यह प्रेस नोट जारी किया है। लेकिन सुरक्षा सिर्फ उन्हीं लोगों को दी जाएगी जो एफआईआर दर्ज करवाने के लिए आगे आएंगे।इस समय पुलिस एक्शन में जरूर दिख रही है लेकिन सांसद नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा का कहना है कि कमिश्नर आरती सिंह सत्ताधारी पक्ष और जिले के पालक मंत्री के दबाव में आकर उमेश कोल्हे का मामला रफा-दफा करने की कोशिश करी है।

यह भी पढ़े –l*बड़ी खबर : ऋषिकेश में भगवान शिव के मंदिर में हुई तोड़ फोड़, अब पुलिस ने कर डाली कार्रवाई, यहां से पकड़ा गया अभियुक्त।*
रवि राणा द्वारा यह तक कहा गया है कि कमिश्नर का फोन जब्त कर अगर जांच की जाए तो 20 जून के बाद किस -किस से बात हुई है सब चीज़ का खुलासा हो जाएगा।लेकिन अमरावती पुलिस ने इन दावों को खारिज कर कहा है की पुलिस ने मामले में शुरुआत से ही गंभीरता दिखाते हुए जांच की है। पुलिस कमिश्नर आरती सिंह बताती हैं कि उमेश की हत्या को अंजाम देने के बाद इरफान ने आरोपियों को ₹10000 -10000दिए थे और गाड़ी मुहैया करवाई थी। साथ ही यह बात भी खुलकर सामने आई है कि उमेश को युसफ नाम के एक व्यक्ति ने कर्ज दिया था जिसमें से डेढ़ लाख अभी भी बचे हुए हैं, जो की अभी तक नहीं दिए गए हैं।

Related posts

दो छात्रों द्वारा किताब के बहाने घर में घुसकर दुष्कर्म को दिया गया अंजाम।

doonprimenews

Rajasthan: एक पुजारी ने खुद को जला कर की आत्महत्या, जानिए इसके पीछे का कारण

doonprimenews

कार दुर्घटना में लापता शिक्षक का शव दो दिन बाद हुआ भागीरथी नदी से बरामद

doonprimenews

Leave a Comment