Doon Prime News
nation

बड़ी खबर- ऑनलाइन सामान खरीदते है तो हो जाइये सावधान, ऐसे हो रही थी करोड़ों की धोखाधड़ी


वर्तमान में CYBER अपराधी आम जनता की गाढ़ी कमाई हड़पने हेतु अपराध के नये-नये तरीके अपनाकर धोखाधड़ी कर रहे है। इसी परिपेक्ष्य में ठगों द्वारा विभिन्न आँनलाईन सर्च इंजन पर फर्जी मोबाइल नम्बर डालकर कर आम जनता से ई-मेल व दूरभाष के माध्यम से सम्पर्क कर फर्जी वैबसाइट के माध्यम से ऑनलाईन सामान बेचने के नाम पर करोडो रुपये की धोखाधडी की जा रही है। 
इसी क्रम में एक प्रकरण CYBER CRIME पुलिस स्टेशन को प्राप्त हुआ था जिसमें अन्जू केन पत्नि बृजेश केन निवासी लेन नं0 13 एकता विहार सहस्त्रधारा रोड देहरादून के साथ इसी प्रकार की घटना घटित हुयी जिसमें अज्ञात व्यक्ति द्वारा PNB  कस्टमर केयर अधिकारी बताकर शिकायतकर्ता को ऑनलाईन लिंक भेजकर बैंक खाते से लगभग 15 लाख रुपये की धोखाधडी किये जाने की शिकायत के  आधार  पर  CYBER CRIME पुलिस स्टेशन देहरादून पर मु0अ0सं0 34/21 धारा 420 भादवि व 66 डी IT एक्ट का अभियोग पंजीकृत किया गया तथा विवेचना साइबर थाने के निरीक्षक पंकज पोखरियाल  के सुपुर्द कर विवेचक के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। 

 पुलिस टीम द्वारा अथक मेहनत एवं प्रयास से अभियुक्तो द्वारा वादी मुकदमा से धोखाधडी से प्राप्त की गयी धनराशि के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गयी तो अभियुक्तो द्वारा उक्त धनराशि  गुजरात, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, दिल्ली आदि स्थानों में आहरित होना प्रकाश में आया। अभियुक्तो द्वारा फर्जी आईडी कार्ड के आधार पर मोबाईल नम्बरों का प्रयोग कर अपराध कारित किया गया । प्रकरण में अपराधियो की गिरफ्तारी हेतु निरीक्षक श्री पंकज पोखरियाल के नेतृत्व में टीम गठित कर गुजरात, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, दिल्ली आदि राज्यो हेतु रवाना की गयी थी । जिनके द्वारा उक्त धोखाधड़ी करने वाले गिरोह के 02 सदस्यो 1. ठाकुर जी शैलेश जी पुत्र चमनजी निवासी रुगनाथपुर, हारिज, पाटन गुजरात  व 2. ठाकुर दयमाजी उर्फ दयाजी पुत्र बाबूजी निवासी बड़गाम जनपद पालमपुर गुजरात को हारिज, पाटन गुजरात राज्य से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्तो का स्थानीय न्यायालय से ट्रांजिट रिमाण्ड प्राप्त कर उत्तराखण्ड लाया जा रहा है।

अभियुक्तगणो से पूछताछ में यह तथ्य प्रकाश में आये कि  गिरफ्तारशुदा अभियुक्तों में से 01 अभियुक्त खाते खुलवाकर आगे गिरोह के अन्य सदस्यो को भेजता था जिसके वह 2000 रुपये लेता था तथा OTP बताने के 500 से 1000/- रुपये प्राप्त करता था इसके अतिरिक्त दूसरा अन्य अभियुक्त खाताधारक है जिसे भी खाते मे हुये लेनदेन का कमीशन प्राप्त होता था। अभियुक्तगणो से 02 मोबाइल फोन व 03 सिम कार्ड बरामद हुये है जिनमें अभियोग से सम्बन्धित Payment Detail, एवं महत्वपूर्ण Chating मौजूद है । अपराध का तरीका- 

अभियुक्तगण आम जनता से ठगी करने हेतु विभिन्न कम्पनियों/बैंक आदि के फर्जी कस्टमर केयर नम्बर को गूगल प्लेटफार्म पर प्रसारित कर आम जनता को  झांसे में लेकर विभिन्न कम्पनियों/बैंक के कस्टमर केयर अधिकारी/कर्मचारी बनकर समस्या के समाधान हेतु लिंक भेजकर/एप डाउनलोड कराकर बैंक/एटीएम डिटेल प्राप्त कर ठगी का शिकार बनाते हैं।

यह भी पढ़े- बड़ी खबर- बारिश बर्फबारी के बाद अब ऐसा रहेगा मौसम का हाल,मौसम विभाग ने दी जानकारी। 
गिरफ्तार अभियुक्त-
1- ठाकुर जी शैलेश जी पुत्र चमनजी निवासी रुगनाथपुर, हारिज, पाटन गुजरात ।2- ठाकुर दयमाजी उर्फ दयाजी पुत्र बाबूजी निवासी बड़गाम जनपद पालमपुर गुजरात । 
बरामदगीः-
1- मोबाइल फोन-02 (घटना में प्रयुक्त) 2- सिम कार्ड- 03 (घटना में प्रयुक्त) पुलिस टीम-
1-    निरीक्षक श्री पंकज पोखरियाल 2-    उ0नि0 राजीव सेमवाल3-    हे0कानि0प्रो0 सुरेश कुमार4-     एसटीएफ टीम उत्तराखण्ड
यह भी पढ़े- बड़ी खबर- उत्तराखंड पहुंचे जेपी नड्डा, एयरपोर्ट पे हुआ स्वागत।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक STF उत्तराखण्ड द्वारा जनता से अपील की है कि कृपया गूगल या अन्य किसी सर्च इंजन पर किसी कम्पनी / बैंक का कस्टूमर केयर नम्बर न ढूंढें। कस्टमर केयर का नम्बर सम्बन्धित कम्पनी / बैंक की अधिकारिक वैबसाईट से ही देखें । किसी अंजान व्यक्ति के बहकावे मे आकर Any Desk, Quick Support, Alpmix, Quick Solution, Team Viewer आदि Remote Access app डाउनलोड न करें । कस्टमर केयर से बताकर फोन करने वाले व्यक्ति की बातो में न आये और न ही उसे अपने वॉलेट/बैक सम्बन्धी को जानकारी साझा करें । कोई भी शक होने पर तत्काल निकटतम पुलिस स्टेशन या साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून को सम्पर्क करें, व कोई भी आर्थिक साईबर अपराध होने पर तत्काल CYBER HelpLine नम्बर 155260 पर सम्पर्क करें।

Related posts

Jammu Kashmir में सेना और सुरक्षाबलों का आतंकियों के खिलाफ अभियान जारी, एनकाउंटर में 1 आतंकी ढेर 2 को सुरक्षाबलों ने घेरा

doonprimenews

चुनाव जीतने के बाद जमकर मना सकते है जश्न,Election Commission ने लिया बढ़ा फैसला

doonprimenews

cyber ठगों ने दो bank खातों से निकाले चार लाख रुपये

doonprimenews

Leave a Comment