Doon Prime News
international

नैंसी पेलोसी के ताइवान दौरे से बौखलाया चीन, अमेरिका को गंभीर परिणाम भुगतने की दी धमकी , जाने क्या है पूरा मामला

नैंसी पेलोसी

इस वक्त की बड़ी खबर ताइवान से आ रही है जहां अमेरिकी संसद की स्पीकर नैंसी पेलोसी ताइवान पहुंच चुकी हैं। उनके ताइवान पहुंचते ही चीन बौखला गया है और चीन ने अमेरिका को चेतावनी देते हुए कहा है कि नैंसी पेलोसी के दौरे पर नजर है, यदि ताइवान को भड़काया गया तो करारा जवाब मिलेगा। इतना ही नहीं चीन ने अमेरिका को गंभीर परिणाम भुगतने तक की धमकी दे डाली।
आपको बता दें कि नैंसी पेलोसी पर चीन की धमकियां बेअसर साबित हो रही है। पहले ग्लोबल टाइम्स द्वारा यह दावा किया गया था कि एक बोइंग C-40C कथित तौर पर नैंसी पेलोसी को ताइपे की ओर ले कर जा रहा है। एनएचके की रिपोर्ट के अनुसार पेलोसी की फ्लाइट को सुरक्षा प्रदान करने के लिए जापान के ओकिनावा में एक अमेरिकी बेस से 8यूएस एफ -15 फाइटर जेट और पांच टैंकर विमानों ने उड़ान भरी थी। कुछ देर पहले ही खबर आई थी कि पेलोसी का विमान ताइवान के एयरस्पेस में प्रवेश कर चुका है जो अब ताइपे में उतर चुका है।मंगलवार को पेलोसी मलेशिया पहुंची थी जहां से शाम को उनके ताइवान जाने की संभावनाएं जताई जा रही थी।
बता दे कि पेलोसी को ताइवान ले जाने वाले विमान पर किसी भी चीनी हस्तक्षेप की स्थिति में अमेरिकी वायु सेना को गोलीबारी करने की छूट मिल चुकी है।वहीं पेलोसी के उतरने से पहले चीन ने ताइवान के ऊपर के हवाई क्षेत्र को सभी नागरिक विमानों के लिए बंद कर दिया था। एक वीडियो में ताइवान देश की सबसे ऊंची इमारत से पेलोसी का स्वागत करता दिख रहा है जिस पर” स्पीकर पेलोसी “,ताइवान में स्वागत है फ़्लैश हो रहा है। वहीं दूसरी ओर कुछ लोग उनकी ताइवान यात्रा का विरोध भी कर रहे हैं और आरोप लगा रहे हैं कि वह देश को खतरे में डाल रही हैं।

यह भी पढ़े- यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामला: एसटीएफ की सर्जिकल स्ट्राइक जारी-


बता दें कि पेलोसी के इस दौरे से चीन और अमेरिका आमने-सामने हैं।अमेरिका ने मंगलवार को 4 युद्धपोत और एक एयरक्राफ्ट कैरियर ताइवान के पूर्व में तैनात किए जिसे अमेरिकी नौसेना ने रूटीन तैनाती बताया है।इससे पहले अमेरिका ने अपने दो एयरक्राफ्ट कैरियर दर्जनों युद्धपोत और तीन सबमरीन को भी ताइवान की सीमा के बेहद करीब तैनात करा था। वहीं चीन ने भी बड़े पैमाने पर घातक युद्धपोत फाइटर जेट ताइवान की ओर तैनात कर दिए हैं।सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे वीडियो में चीन की सेना समुद्र के किनारे नजर आ रही है जहां से ताइवान ईद सिर्फ 10 किलोमीटर दूर है।

Related posts

Breaking: अफगानिस्तान में दूसरी बार फिर से महसूस किए गए भूकंप के झटके।

doonprimenews

इतने साल बाद चीन फिर से भारतीयों के लिए शुरू करेगा छात्र वीजा

doonprimenews

ब्रिटेन में PM बनने की रेस में भारत के ऋषि सुनक सबसे आगे, इस तारीख को की जाएगी PM की घोषणा।

doonprimenews

Leave a Comment