Doon Prime News
international

अफगानिस्तान की तरह ही हो सकता है ताइवान का भी हाल,जानिए क्यों हो रही है इसकी चिंता।

अफगानिस्तान की तरह ही हो सकता है ताइवान का भी हाल,जानिए क्यों हो रही है इसकी चिंता।

अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना की वापसी अफगान सरकार की हार ने ताइवान में इस बात पर चर्चा शुरू कर दी है कि चीनी आक्रमण की स्थिति में क्या होगा। यह भी सवाल उठ रहे हैं कि क्या अमेरिका ताइवान की रक्षा में मदद करेगा। आपको बता दें कि ताइवान-अमेरिका के बीच सामरिक सुरक्षा पर करार है। इस समझौते के तहत ताइवान पर जब भी सुरक्षा का खतरा होगा, अमेरिका उसकी मदद में आगे आएगा। इसलिए यह सवाल और भी ज्यादा जरूरी हो जाता है। अफगानिस्तान समस्या को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति joe Biden ने कहा है कि अफगानिस्तान में वह अपने सैनिकों को असुरक्षित नहीं छोड़ सकते। मोनी यह भी कहा कि इस समस्या के लिए अफगान सरकार दोषी है। मैदान छोड़कर भाग गई। इसलिए अब यह सवाल उठ रहे हैं कि क्या अमेरिकी सैनिक ताइवान को चीन से बचा पाएंगे।

अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों की वापसी और तालिबान के प्रभुत्व के बाद ताइवान के प्रधानमंत्री का एक बड़ा बयान सामने आया है। निखिल को अप्रत्यक्ष चेतावनी देते हुए कहा कि बीजिंग को ताइवान पर कब्जे का भ्रम नहीं पालना चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमले की स्थिति में ताइवान की स्थिति अफगानिस्तान की तरह नहीं होगी। उन्होंने कहा कि ताइवान अपनी सुरक्षा करना बखूबी जानता है। ताइवान के प्रधानमंत्री का यह बयान ऐसे समय आया है जब अफगानिस्तान में लड़ाई कि सैनिकों की वापसी हो रही है‌ तालिबान लड़ाकों के आगे अफगान सेना ने अपने हथियार डाल दिए हैं।

यह भी पढ़े-  काबुल से भारतीयों को लेकर उड़ा वायुसेना का विमान

देश की रक्षा करने के लिए हम दृढ़ संकल्पित

यह पूछे जाने पर कि क्‍या अफगानिस्‍तान के राष्‍ट्रपति की तरह ताइवान के प्रधानमंत्री भी दुश्‍मन के समक्ष घुटने टेक देंगे। क्‍या वह देश छोड़कर भाग जाएंगे। सु ने कहा कि ताइवान में 1949 से 1987 तक मार्शल लॉ था, देश में तानाशाही थी, लेकिन उनको न तो गिरफ्तारी से डर लगता है और न ही मौत से। उन्‍होंने कहा कि तब के ताइवान में और आज के ताइवान में बहुत बदलाव आया है। हम एक शक्तिशाली देश हैं। उन्‍होंने चीन की ओर इशारा करते हुए कहा कि जो सेना और बल के जरिए हम पर अपना प्रभुत्‍व कायम करना चाहते हैं, वह भ्रम में हैं। उन्‍होंने कहा कि देश की रक्षा करने के लिए हम दृढ़ संकल्पित हैं।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए  यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें. व्हाट्सएप ग्रुप को जॉइन करने के लिए  यहां क्लिक करें,

Share this story

Related posts

Tokyo olympics: आज है 12 वा दिन ,आज मिलेगा मेडल ?,जानिए किन खिलाड़ियों पर आज टिकी है नजर।

doonprimenews

California forest fire: कैलिफोर्निया के जंगलों में लगी भीषण आग, 10,000 से ज्यादा घरों पर बना खतरा

doonprimenews

रूस , यूक्रेन पर दाग रहा बैलिस्टिक मिसाइल, इस मिसाइल की क्या है खासियत पढ़िए पूरी खबर

doonprimenews

Leave a Comment